ताजमहल पर निबंध | Tajmahal par nibandh

ताजमहल पर निबंध हिंदी में Tajmahal par nibandh hindi me 

हैलो दोस्तों आपका बहुत-बहुत स्वागत है इस लेख ताजमहल पर निबंध (Essay on tajmahal in hindi) में दोस्तों आपने जरूर ताजमहल का नाम सुना होगा और कई बार आपकी ताजमहल को देखने की इक्षा हुई होगी।

हम उसी ताजमहल के बारे में लेख लेकर आए हैं, जिसमें  ताजमहल के बारे में सभी प्रकार की जानकारी आपके सामने प्रस्तुत करेंगे तो दोस्तों बने रहिए हमारे लेख के साथ ताजमहल पर निबंध में:-


इसे भी पढ़े:- लाल किला पर निबंध Essay on red fort 


ताजमहल पर निबंध


ताजमहल पर निबंध 200 शब्दों में Essay on Tajmahal in 200 words

  • प्रस्तावना Introduction 

भारत एक ऐसा देश है जो सभी प्रकार से सम्पन्न है। चाहें वह भारत की भाषायी विविधता हों या सांस्कृतिक। भारत ने सभी धर्मो की संस्कृति को अपनाया है, जिनकी झलक आज भी भारत में देखने को मिलती है।

जिसका एक जीता जागता उदाहरण है। भारत के आगरा जिले में स्थित है, जिसे विश्व का सातवाँ अजूबा की संज्ञा प्राप्त है। ताजमहल भारत के राज्य उत्तर प्रदेश के जिले आगरा में स्थित है,

जो अपनी सुंदरता तथा कलाकृतियों के कारण सम्पूर्ण विश्व में प्रसिद्ध है, यहाँ विश्व के कोने - कोने से  हजारों लोग इसकी सुंदरता तथा कला का लुत्फ़ उठाते है। 

  • ताजमहल किसने बनवाया who built tajmahal 

ताजमहल का निर्माण मुगल शासक शाहजहाँ ने 17 वीं शताब्दी में अपनी प्रिय रानी मुमताजमहल की याद में करवाया था, जो आगरा में यमुना नदी के किनारे

स्थित है। ताजमहल 20000 कारीगरों तथा 320 लाख रुपए की लागत के साथ लगभग 20 वर्ष में बनकर तैयार हुआ जिसके मुख्य वास्तुकार उस्ताद अहमद लाहौरी थे। 

ताजमहल में भारतीय, मुस्लिम, इस्लामिक तथा पारसी कलाकृतियों का अनूठा उदाहरण है, जिसे वर्ष 2007 में विश्व का सातवाँ अजूबा की संज्ञा प्राप्त हुई जबकि विश्व विरासत सूची में इसे 1983 में शामिल किया गया। 

  • ताजमहल का महत्व Importence of Tajmahal 

ताजमहल भारत की प्रमुख संस्कृतिक धरोहर है, जिसे शहंशाह शांहजहाँ और मुमताज की प्रेम की निशानी माना जाता है। यह इमारत सभी कलाकृतियों भारतीय, मुस्लिम, इस्लामिक तथा पारसी का मिश्रण है,

जो सबसे प्रमुख विशेषता है। इसके निर्माण में विभिन्न कीमती पथ्थरों तथा रत्नो का प्रयोग किया गया है। इतिहास के विद्वान, वास्तुकार,

कपड़े और गहनों के डिजाइनर, चित्रकार और फोटोग्राफर सब को इस प्रेम के स्मारक और खूबसूरत आश्चर्य के ऐतिहासिक मकबरे से प्रेरणा मिलती है। 

  • उपसंहार Conclusion 

ताजमहल भारत का प्रमुख ऐतिहासिक सांस्कृतिक तथा प्रेम की धरोहर है, जिसे सम्पूर्ण विश्व में प्रेम की निशानी के रूप में जाना जाता है, जो वर्तमान में भारत सरकार द्वारा संरक्षित है।


ताजमहल पर निबंध Essay on Tajmahal in hindi

यहाँ पर ताजमहल पर निबंध (Essay on Tajmahal in hindi) सरल शब्दों में समझाया गया है, यहाँ से आप निबंध लिखने का आईडिया ले सकते है।

  • परिचय Introduction 

दोस्तों भारत देश वर्षों से ही सांस्कृतिक और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि (Cultural and historical background) के लिए जाना जाता है। यहाँ पर हर एक धर्म के लोगों के साथ विभिन्न प्रकार के समुदायों का सम्मिश्रण देखने को मिलता है।

तो साथ ही साथ उनके बीच विभिन्न त्योहारों पर प्रेम तथा भाईचारा भी देखने को मिलता है। प्राचीन काल में भारत के वीर योद्धाओं द्वारा रचित भारत का इतिहास (History of india) अपने हृदय के अंदर अनोखी आभा अभी भी छुपाए हुये हैं।

भारत में राज करने वाले विभिन्न राज्यों के महान सम्राट और योद्धाओं की यादें अभी भी भारत के विभिन्न इमारतों में देखने को मिल जाती है।

इसलिए भारत में प्रति वर्ष लाखों की संख्या में विदेशों से पर्यटक आते हैं तथा भारत की संस्कृति और ऐतिहासिक पृष्ठभूमि को देखकर आश्चर्यचकित हो जाते हैं।

भारत में विभिन्न सम्राटों ने राज तो किया ही साथ ही साथ उन्होंने कई ऐसे विशिष्ट इमारतें और कलाकृतियाँ छोड़ दी है, जिसे देख आज भारत अपने आप पर गौरव महसूस करता है

इन्हीं कला कृतियों में से एक कलाकृति है हमारे ताजमहल की हाँ दोस्तों आपने जरूर इसका नाम सुना होगा कि ताजमहल कहाँ में स्थित है

और यह भी जानने की कोशिश की होगी कि यह ताजमहल बनवाया किसने और क्यों बनवाया है? तो दोस्तों आइए जानते हैं कि ताजमहल क्या है? और किसने और क्यों बनवाया है?

ताजमहल पर निबंध
tajmahal picture

  • ताजमहल कहाँ स्थित है Where is Tajmahal Situatid 

दोस्तों ताजमहल एक ऐसी ऐतिहासिक इमारत (Historical Building) है, जिसे देखने के बाद एक उदास व्यक्ति के चेहरे पर भी खुशी की  आभा झलकने लगने लगती है।

और यह भारत देश के सबसे अधिक जनसँख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश के नगर आगरा में यमुना नदी के किनारे स्थित है, जो मात्र आगरा किले से 2 किलोमीटर ही दूर है। ताजमहल सफेद संगमरमर का प्रयोग करके बनाया गया है

और यह संगमरमर राजस्थान से मंगाई गई थी। इसकी कारीगरी और वास्तुकला इस तरीके से की गई है कि यह दुनिया की सबसे प्रसिद्ध तथा सबसे सुंदर इमारत है।

इसके सामने तथा बगल की तरफ हरियाली तथा हरी लॉन तथा पीछे की तरफ बहती यमुना नदी (yamuna River) इसकी सुंदरता में चार चाँद लगा देती है। इसलिए यह अपनी सुंदरता के कारण विश्व के सात अजूबों में भी शामिल किया गया है।

  • ताजमहल किसने बनवाया था Who built Tajmahal 

भारत में जितने भी ऐतिहासिक भवन (historical building) बनाए गए हैं वह किसी ना किसी घटना या प्रेम कहानी से जरूर संबंधित हैं। इसी प्रकार ताजमहल भी प्रेम का प्रतीक माना जाता है।

ताजमहल का निर्माण मुगल शासक शाहजहाँ के द्वारा 17 वी शताब्दी में करवाया गया था। शाहजहाँ एक महान शासक था जिसके पिता का नाम जहाँगीर तथा दादाजी का नाम अकबर महान था।

शाहजहाँ ने ताजमहल का निर्माण अपनी तीसरी पत्नी मुमताज महल की याद में करवाया था। मुमताज सुंदर होने के साथ-साथ राजकाज में भी एक होशियार महिला थी, किंतु उसकी मौत के बाद शहंशाह शाहजहाँ अत्यंत दुखी हो गया

और उन्होंने उसकी याद में यमुना नदी के किनारे एक इमारत का निर्माण करवाया, जिसे ताजमहल (Tajmahal) के नाम से जाना गया।

वह इसे नित्य प्रतिदिन अपनी पत्नी की याद में देखा करता था। ताजमहल में भारतीय, मुस्लिम, इस्लामिक तथा पारसी कलाकृतियों

(Indian, Muslim, Islamic and Parsi Artifacts) का मिश्रण भी देखने को मिलता है। इसलिए यह अद्धभुत कारीगरी तथा सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है।

  • ताजमहल की सुंदरता व सातवाँ अजूबा Seventh wonder or beauty of taj mahal

ताजमहल की सुंदरता अनुपम है तथा इसका शब्दों में वर्णन करना बहुत ही कठिन है। ताजमहल को इस प्रकार सुंदरता का उपहार (Gift of Beauty)

दिया गया है, कि इसके चारों तरफ बिछी हुई हरी-हरी घास तथा प्रकृति की सुंदरता बढ़ाने वाले वृक्ष ताजमहल की सुंदरता में बढ़ोतरी करते हैं।

तो इसके साथ ही ताजमहल के सामने बने हुये पानी के  फव्वारे तथा चांदनी रात में ताजमहल के रंगीन पत्थरों का रंग बदलना इसकी सुंदरता में चार चाँद लगा देते हैं।

वैसे तो भारत में कई अद्भुत और आकर्षक इमारतें बनी हुई हैं लेकिन उनमें ताजमहल एक ऐसी इमारत है जिसे देखने के लिए पर्यटकों का मेला सा लगा रहता है

और अब ताजमहल यूनेस्को की विश्व धरोहर सूची में भी शामिल हो चुका है तथा अपनी सुंदरता और प्रेम के प्रतीक के कारण इसे सन् 2007 में विश्व का सातवां अजूबा की उपाधि भी प्राप्त हो चुकी है।

  • ताजमहल का निर्माण Construction of Taj Mahal

भारत में ताजमहल आगरा में यमुना नदी के किनारे उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है। जिसकी सुंदरता तथा कलाकृतियों को देखकर ऐसा जरूर लगता है कि इसके निर्माण में हजारों कारीगरों तथा मजदूरों ने सहयोग किया होगा।

तथा बनने में भी बहुत वक्त लगा होगा क्योंकि सुंदरता का प्रतीक ताजमहल इतना अधिक सुंदर है जिसे सुंदरता प्रदान करने के लिए समय तो लगा ही होगा।

शहंशाह शाहजहाँ अपनी पत्नी मुमताज महल को इतना प्यार करता था कि उसकी मृत्यु के बाद उसने अपना खाना पीना भी छोड़ दिया था।

उसने यह निर्णय लिया कि उसकी यादों को भूलने नहीं देगा इसलिए उसने किले के सामने यमुना नदी के किनारे ताजमहल का निर्माण करने का आदेश दिया

जिसे लगभग  मजदूरों तथा कारीगरों ने दिन रात मेहनत करके लगभग 22 वर्षों में पूर्ण किया।

ताजमहल पर निबंध

  • ताजमहल की संरचना Structure of tajmahal 

ताजमहल के निर्माण में भारतीय मुस्लिम तथा पारसी कलाकृतियों का प्रयोग किया गया है, जितनी भी मुगल भवनों का निर्माण किया गया है।

वे अधिकतर पारसी शैली में विकसित हैं:- जैसे - दिल्ली की जामा, मस्जिद हुमायूँ का मकबरा आदि जो लाल पत्थरों के द्वारा निर्मित हैं,

किंतु शहंशाह शाहजहाँ ने ताजमहल का निर्माण राजस्थान से मंगाए गए सफेद संगमरमर (White marble) के पत्थरों से करवाया है, जिनमें इन पत्थरों की अच्छे से नक्कासी कर इनमें कई प्रकार के रत्नों को जड़ा गया है

इसप्रकार ताजमहल के निर्माण में लगभग 22 प्रकार के संगमरमर के पत्थरों का उपयोग किया गया जिससे  ताजमहल की सुंदरता निखरती चली गयी

जिसमें भवनों की संरचना इस प्रकार बनाई गई है कि वह देखने में आकर्षक और लुभावने (alluring and alluring) लगते हैं।

ताजमहल के मुख्य कक्ष में मुमताज महल और शहंशाह शाहजहां की नकली कब्रें (fake graves) स्थित हैं जबकि इनकी असली कब्रें (real graves) निचले तल पर स्थित है

तथा इन दोनों प्रकार की कब्रों को बहुत अच्छे से सजाया गया है मुमताज महल की कब्र पर कुरान की आयतें देखने को मिल जाएंगी जो इसकी सुंदरता को और अधिक सुंदर बना देती है।

ताजमहल 41 एकड़ जमीन में फैला हुआ है जिसकी आकृति वर्गाकार है। चारों तरफ चारों कोनों पर चार मीनार इसकी सुंदरता बढ़ाती हैं।

ताजमहल के ऊपर बड़े गुंबद जो कि पहले सोने का हुआ करता था अब कांसे का है जिसके ऊपर एक चाँद बना हुआ है जो स्वर्ग की ओर इंगित करता है।

  • ताजमहल का इतिहास History of tajmahal 

भारत में उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित ताजमहल सुंदरता का प्रतीक तथा विश्व विरासत सूची (World Heritage List) में शामिल है। ताजमहल को यूनेस्को ने 1983 में विश्व विरासत सूची में शामिल किया जिसका इतिहास बड़ा ही रोचक और आकर्षक है।

इस ताजमहल का निर्माण मुगल काल के शहंशाह शाहजहाँ ने अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में करवाया था। शहंशाह शाहजहाँ अपनी पत्नी मुमताज महल से बहुत प्यार करता था

किंतु उसकी मृत्यु होने का कारण बहुत दुखी हुआ और उसकी याद में वो इस कदर खो गया था कि उसने अपने आप को भी भुला दिया

अंततः उसने यह निर्णय लिया कि वह अपनी पत्नी मुमताज महल की याद में भव्य इमारत का निर्माण करवाएगा जिसमें वह अपनी पत्नी मुमताज महल की सभी यादों को हमेशा के लिए संजोकर रखेगा 

इसके लिए उसने भारत देश तथा अन्य देशों से अच्छे से अच्छे कारीगरों को बुलाया जिन्होंने लगभग 100 से भी अधिक डिजाइन तैयार की

जिनमें से शहंशाह को एक डिजाइन बहुत ही पसंद आई  जिसमें एक आकर्षक भवन बीच में बना हुआ था तथा इसके चारों ओर चारमीनार खड़ी हुई थी पूरी इमारत वर्गाकार आकृति की थी

इसकी मीनारें भी थोड़ी आगे की तरफ झुकी हुई थी यह सब डिजाइन में से सबसे सुंदर इमारत लग रही थी और शहंशाह ने इसे ही बनाने का आदेश दे दिया

मुमताज महल पर्सियन देश की एक राजकुमारी थी जिसका विवाह शहंशाह शाहजहाँ की सेना के ही एक सिपाही से हुआ था।

किन्तु मुमताज महल इतनी सुंदर थी कि एक बार शहंशाह उसकी सुंदरता पर मुग्ध हो गया उसने उसके पति की हत्या करवा दी तथा हत्या करवा देने के बाद उसने मुमताज से निकाह कर लिया

महारानी मुमताज महल ने 1631 ईसवी में 33 वर्ष की आयु में अपनी चौदहवीं संतान गोहरा को जन्म देते हुए अंतिम सांस ली

तथा 1632 ईस्वी में ताजमहल का काम शुरू हो गया जो लगभग 20000 कारीगरों तथा 320 लाख रुपए की लागत के साथ लगभग 20 वर्ष में बनकर तैयार हुआ जिसके मुख्य वास्तुकार उस्ताद अहमद लाहौरी थे।

  • उपसंहार Conclusion

दोस्तों भारत देश एक ऐसा देश है, जहाँ पर कई प्रकार की प्रसिद्ध इमारतें देखने को मिल जाती हैं, लेकिन अगर हम बात करें ताजमहल की तो ताजमहल एक ऐसी इमारत है, जिसके सामने विश्व की सभी इमारतों की सुंदरता भी फीकी पड़ जाती है।

इसलिए यहाँ प्रति वर्ष हजारों की संख्या में पर्यटक (Tourist) आते रहते हैं और यहाँ की सुंदरता को अपने कैमरे में कैद कर लेते हैं क्योंकि ताजमहल है ही सुंदरता और प्रेम का प्रतीक 

दोस्तों आपको ताजमहल पर निबंध Essay on Tajmahal कैसा लगा हमें कमैंट्स करके जरूर बतायें तथा विभिन्न विषयों पर निबंध तथा पौराणिक कहानी पढ़ने के लिए इस ब्लॉग को सब्सक्राइब जरूर करें और शेयर करना ना भूले। 

  • FAQ For Essay on Tajmahal 

Q.1 - ताजमहल कहाँ स्थित है?

ताजमहल भारत के राज्य उत्तरप्रदेश के शहर आगरा में यमुना नदी के किनारे स्थित है।

Q.2- ताजमहल किस गोलार्द्ध में है?

ताजमहल उत्तरी गोलार्ध में स्थित है।

Q.3- ताज महल का असली नाम क्या है?

ताजमहल एक प्राचीन शिव मंदिर के स्थान पर बना है जिसे तेजो महालय कहते थे, किन्तु ताजमहल का निर्माण होने पर ताजमहल का असली नाम किला ए मुबारक पड़ गया।

Q.4- आगरा का ताजमहल का निर्माण कब हुआ था?

आगरा का ताजमहल का निर्माण मुगल सम्राट शाहजहाँ ने अपनी प्रिय पत्नी मुमताज महल की याद में 1632 में करबाया था।

Q.5- ताजमहल कौन से पत्थर का बना हुआ है?

ताजमहल मकराना के मार्बल ने बना हुआ है जो उस समय राज्यस्थान से लाया गया था।

Q.6- ताज महल के कितने दरवाजे हैं?

ताजमहल में कई दरबाजे है जिन्हे भारत सरकार ने सील कर दिया है ऐसे लगभग 22 दरबाजे है, दो दरबाजे यमुना नदी की तरफ भी है, जो कई सालों पहले ही बंद हो गए जबकि एक मुख्य दरबाजा है।

  • इसे भी पढ़े:-

  1. भारतीय संविधान पर निबंध Essay on indian constitution
  2. आतंकवाद पर निबंध Essay on terrorism
  3. पर्यावरण प्रदूषण के दुष्परिणाम Bad effect of Environmental Pollution

Thankyou




Post a Comment

और नया पुराने
close