विटामिन बी 2 के फायदे रोग लक्षण Advantages of Vitamin B2 Disease Symptoms

विटामिन बी 2 के फायदे रोग लक्षण Advantages of Vitamin B2 Disease Symptoms 

हैलो दोस्तों आपका बहुत-बहुत स्वागत है, हमारे इस लेख विटामिन बी2 के फायदे रोग तथा लक्षण (Advantages of Vitamin B-2 Disease and Symptoms) में।

दोस्तों इस लेख में आप विटामिन B2 की कमी के द्वारा होने वाले रोग, विटामिन B2 के फायदे क्या-क्या होते है, के साथ अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में जानेंगे।

तो दोस्तों आइए शुरू करते हैं आज का यह लेख और प्राप्त करते है यह महत्वपूर्ण जानकारी विटामिन बी 2 के फायदे रोग तथा लक्षण:-


इसे भी पढ़े:- विटामिन बी -5 क्या है कमी रोग लक्षण उपचार What is vitamin B-5


विटामिन बी 2 के फायदे


विटामिन बी 2 राइबोफ्लेबिन क्या है What is vitamin b2 riboflavin 

विटामिन B2 विटामिन बी कांपलेक्स का ही एक विटामिन है, जो अन्य विटामिनों की तरह एक कार्बनिक योगिक है। विटामिन B2 को रासायनिक नाम राइबोफ्लेविन (Riboflavin) के नाम से भी जाना जाता है।

इस विटामिन का प्रथक्करण 1932 में वारवर्ग और क्रीसयन ने किया था। विटामिन बी 2 को विटामिन C1 और G के नाम से भी जाना जाता है।

विटामिन B2 का रासायनिक फार्मूला (Chemical Formula) C17 H20 O6 N4 होता है। यह विटामिन शरीर की वृद्धि करने के साथ ही कार्बोहाइड्रेट के उपापचय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

इसके साथ ही यह विटामिन स्वसन क्रिया तंत्रिका तंत्र आदि क्रियाओं को भी प्रभावित करता है तथा अनेक क्रियाओं में सहविकार के रूप में भी कार्य करता है।

विटामिन B2 को पीला एंजाइम (Yellow enzyme) भी कहा जाता है। जो ए.ए.डी (AAD) तथा एफ.ए.एन (FAN) के निर्माण से जुड़ा हुआ है।


इसे भी पढ़े:- विटामिन ई किसे कहते हैं what is vitamin-E


विटामिन बी 2 के फायदे रोग लक्षण


विटामिन बी 2 के स्रोत Sources of vitamin B2

विटामिन B2 के कई महत्वपूर्ण स्रोत (Source) हैं, जिनके सेवन करने से आप विटामिन बी 2 की भरपूर मात्रा प्राप्त कर सकते हैं,

विटामिन B2 शाकाहारी सब्जियों के साथ ही मांसाहारी भोजन में भी पर्याप्त मात्रा में होता है। विटामिन B2 के स्रोत निम्न प्रकार से हैं:-

शाकाहारी स्रोत - विटामिन B2 के शाकाहारी स्रोत में पनीर, हरी, सब्जियां, टमाटर, अनाज, दूध,गेंहू, किसमिस लाल मिर्च, मटर,शतावरी, मसरूम,शकरकंद आदि को समाहित किया है।

मांसाहारी स्रोत - विटामिन B2 मांसाहारी भोजन में पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। विटामिन B2 के मांसाहारी स्रोत हैं ईस्ट, अंडा, मांस, जिगर, मछली, मछली का तेल आदि।


विटामिन बी 2 की बीमारी Vitamin B2 disease

विटामिन B2 राइबोफ्लेविन की न्यूनता के कारण मानव शरीर पर विभिन्न प्रकार के दुष्प्रभाव देखे जाते हैं। इसकी कमी से मुख्यता निम्न प्रकार के रोग उत्पन्न होते हैं:-

ग्लासाइटिस तथा सी बोरिक डरमेटासिस - यह रोग विटामिन बी 2 की अधिक मात्रा में कमी से होता है। जिसमें होठों के कोनो पर दरारें पड़ने लगती हैं

और होंठ शुष्क हो जाते हैं। चेहरे की तैलीय ग्रंथियाँ (Oil glands) सूख जाती हैं, त्वचाशोध जैसे विकार उत्पन्न होने लगते हैं।

कीलोसिस - यह रोग भी विटामिन B2 की कमी से होने वाला रोग है, इसमें भी होंठो तथा मुख के कोनों पर दरारें पड़ने लगती हैं, इसके साथ ही मानसिक थकावट, स्मरण शक्ति आदि कमजोर पड़ने लगती है।

जीभ पर फफोले - विटामिन B2 की कमी से जीभ पर फफोले पड़ने लगते हैं, तथा जीभ पर किसी वस्तु का स्वाद नहीं लगता तथा तीखा खाने पर दर्द होने लगता है।

बालों का झड़ना - राइबोफ्लेविन विटामिन B2 की कमी से बालों का झड़ना शुरू हो जाता है, बाल कमजोर होने लगते हैं, और रूखे दिखाई देते हैं।

वृद्धि का रुकना - विटामिन B2 की कमी से शरीर की वृद्धि रुक जाती है, उपापचय क्रिया (Metabolic activity) सुचारू रूप से नहीं चलती शरीर का विकास मंद पड़ जाता है।

मंद प्रकाश में ना दिखना - विटामिन B2 की कमी होने से आंखों की कॉर्निंयाँ (Cornices) पर विपरीत प्रभाव पड़ता है, तथा मंद प्रकाश में या रात्रि में दिखाई नहीं देता।


विटामिन B2 के फायदे Benefits of vitamin b2

मानव शरीर में विटामिन बी 2 के कई प्रकार के फायदे देखने को मिलते हैं, जो निम्न प्रकार से बताए गए हैं:-

सिर दर्द में आराम - अगर मनुष्य को सिरदर्द जैसी शिकायत लंबे समय से है या फिर वह माइग्रेशन (Migration) से ग्रसित है,

तो डॉक्टर अवश्य ही विटामिन बी 2 उचित मात्रा में लेने की सलाह देते हैं. क्योंकि विटामिन B2 माइग्रेशन और सिरदर्द में असरकारक औषधि के रूप में प्रयुक्त होता है।

एनीमिया में असरकारक - विटामिन B2 एनीमिया नामक रोग में बहुत ही असरकारक सिद्ध होता है। अगर व्यक्ति को खून की कमी हो जाती है,

तो उसे विटामिन B2 पर्याप्त मात्रा में लेना चाहिए। क्योंकि यह रक्त कोशिकाओं को बढ़ाता है। रक्त में आयरन की मात्रा को नियंत्रित करता है,

और रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा को पर्याप्त बनाए रखता है। इसलिए एनीमिया में असरकारक औषधि के रूप में विटामिन B2 का प्रयोग किया जाता है।

बालों और त्वचा के लिए - विटामिन B2 का पर्याप्त मात्रा में सेवन करने से बाल और त्वचा की समस्याएँ (Hair and Skin Problem) नहीं होती बाल हमेशा मजबूत और चमकदार दिखाई देते हैं,

तो वही चेहरे पर चमक होती है, और तैलीय ग्रंथियां ठीक प्रकार से कार्य करती हैं। जिससे त्वचा हमेशा स्वस्थ्य और सुंदर दिखाई देती है।

विटामिन B2 बालों और त्वचा में कैलोजन के स्तर को बनाए रखती हैं, जिससे त्वचा पर झुर्रियां नहीं पड़ती और त्वचा हमेशा जवान दिखाई देती है।

आंखों के लिए - विटामिन B2 आंखों की बीमारियों में भी असरकारक औषधी है, यह आंखों की कॉर्निंयां को स्वास्थ्य (Healthy) बनाती है,

जिससे रात्रि में ठीक प्रकार से दिखाई देता है, जो व्यक्ति विटामिन B2 का सेवन ठीक प्रकार से करता है उसे आंखों का चश्मा नहीं लगता।

शारीरिक ऊर्जा के लिए - विटामिन B2 बहुत ही महत्वपूर्ण होता है, यह हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करने में मदद करता है, क्योंकि विटामिन बी 2 कार्बोहाइड्रेट के उपापचय में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

जिससे हमारे शरीर को ऊर्जा प्राप्त होती है। इसके साथ ही स्वसन क्रिया और तंत्रिका तंत्र की गतिविधियों को भी प्रभावित करता है।

विटामिन B2 हारमोंस तंत्र को भी प्रभावित करता है. तथा ग्रंथियों को ठीक प्रकार से काम करने के लिए प्रेरित करता है। विटामिन B2 की कमी से थायराइड की समस्या हमेशा बनी रहती है।

दोस्तों इस लेख में आपने विटामिन B2 के स्रोत तथा विटामिन B2 की कमी की बीमारी (Advantages of Vitamin B-2 Disease and Symptoms) के बारे में पढ़ा, आशा करता हूँ, यह लेख आपको अच्छा लगा होगा।

  • FAQ for Vitamin B-2

विटामिन B 2 का अन्य नाम क्या है?

विटामिन B2 का रासायनिक नाम राइबोफ्लेविन है जबकि इसे विटामिन C1 और G के नाम से भी बुलाते है।


विटामिन B2 की पूर्ति कैसे करें?

विटामिन B2 की कमी पूरा करने के लिए विटामिन B2 युक्त खाद्य पदार्थ पनीर, हरी, सब्जियां, टमाटर, अनाज, दूध,गेंहू, किसमिस लाल मिर्च, मटर,शतावरी, ईस्ट, अंडा, मांस, जिगर, मछली, मछली का तेल का सेवन करना चाहिए।


विटामिन B2 की कमी से कौन सा रोग होता है?

विटामिन B2 की कमी से कई रोग जैसे ग्लासाइटिस तथा सी बोरिक डरमेटासिस, कीलोसिस रक्त और ह्रदय आदि से सम्बंधित रोग होते है।

  • इसे भी पढ़े:-

  1. विटामिन किसे कहते है प्रकार तथा कार्य What is vitamin type and function
  2. विटामिन B3 के स्रोत फायदे तथा रोग Vitamin B-3
  3. विटामिन B1 के स्रोत फायदे तथा रोग Vitamin-B1
  4. विटामिन डी के स्रोत फायदे तथा रोग Vitamin-D



Post a Comment

और नया पुराने
close