माँ दुर्गा के 32 नाम तथा शक्तिशाली मन्त्र | 32 names and powerful mantras of Maa durga in hindi

माँ दुर्गा के 32 नाम तथा शक्तिशाली मन्त्र 32 names and powerful mantras of Maa durga 

हैलो दोस्तों आपका बहुत-बहुत स्वागत है, हमारे इस लेख माँ दुर्गा के 32 नाम तथा शक्तिशाली मंत्र (Maa durga ke 32 name and Mantra) में।

दोस्तों आज आप इस लेख में माँ दुर्गा के 32 नामों के साथ ही माँ दुर्गा के शक्तिशाली मन्त्रों के बारे में जानेंगे

और जानेंगे कि इनका जाप किस प्रकार से करना है, और हमें किस प्रकार से ये मन्त्र लाभकारी सिद्ध हो सकते हैं।

तो दोस्तों आइए शुरू करते है, माँ दुर्गा के 32 नाम तथा शक्तिशाली मंत्र:-

महालक्ष्मी के 108 नाम और उनका अर्थ

माँ दुर्गा के 32 नाम तथा शक्तिशाली मन्त्र 32

माँ दुर्गा के 32 नाम 32 names of Maa durga 

माँ दुर्गा की पूजा भारत के सभी क्षेत्रों में सभी लोगों के द्वारा की जाती हैं, और जब नवरात्रि प्रारंभ होती है,

तो मांँ दुर्गा की पूजा का विशेष आयोजन आरंभ किया जाता है। माँ की कृपा पाने की लोग उपवास रखते हैं

और कन्याओं तथा मां के भक्तों को भंडारा कराते हैं, और माता सभी पर अपनी कृपा बनाए रखती हैं,

क्योंकि माँ दुर्गा किसी एक ही की माँ नहीं बल्कि वह सभी भक्तों की ही माँ है।

किंतु माँ दुर्गा की पूजा करते समय माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप करना अत्यंत ही शुभ कर और लाभदाई माना गया है।

माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप करने के पश्चात आप विभिन्न प्रकार के कष्टों और दुखों से मुक्त हो सकते हैं।

जब माँ दुर्गा ने महिषासुर नामक राक्षस का वध किया था, तो उस समय तीनों लोक भयमुक्त और स्वतंत्र हो गए थे

और उस समय देवताओं ने माँ से प्रार्थना की कि वह एक ऐसा उपाय बताएं जिससे वह उपाय बहुत ही सरल हो और बड़े से बड़े कष्ट का भी निवारण किया जा सके।

तब माँ दुर्गा ने अपने 32 नामों की नामावली का जाप करने की प्रेरणा दी और कहा अगर जो भी व्यक्ति शुद्ध मन और भक्ति भाव से

मेरे इन 32 नामों का जाप करता है, तो वह संसार के सभी प्रकार के दुखों और कष्टों से मुक्ति अवश्य पा लेता है।

आज इस लेख में माँ दुर्गा के 32 नामों का उल्लेख किया गया है, जिनका सभी भक्तों को अपने जीवन में अवश्य जाप करना चाहिए।

महालक्ष्मी के मंत्र और उनकी पूजा

माँ दुर्गा के 32 नाम तथा शक्तिशाली मन्त्र 32


माँ दुर्गा के 32 नाम 32 names of Maa durga 

1. ॐ दुर्गा
2. दुर्गतिशमनी
3. दुर्गाद्विनिवारिणी
4. दुर्ग मच्छेदनी
5. दुर्गसाधिनी
6. दुर्गनाशिनी
7. दुर्गतोद्धारिणी
8. दुर्गनिहन्त्री
9. दुर्गमापहा
10. दुर्गमज्ञानदा
11. दुर्गदैत्यलोकदवानला
12. दुर्गमा
13. दुर्गमालोका
14. दुर्गमात्मस्वरुपिणी
15. दुर्गमार्गप्रदा
16. दुर्गम विद्या
17. दुर्गमाश्रिता
18. दुर्गमज्ञान संस्थाना
19. दुर्गमध्यान भासिनी
20. दुर्गमोहा
21. दुर्गमगा
22. दुर्गमार्थस्वरुपिणी
23. दुर्गमासुर संहंत्रि
24. दुर्गमायुध धारिणी
25. दुर्गमांगी
26. दुर्गमता
27. दुर्गम्या
28. दुर्गमेश्वरी
29. दुर्गभीमा
30. दुर्गभामा
31. दुर्गमो
32. दुर्गोद्धारिणी

माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप कैसे करें How to chant 32 names of Maa Durga

माँ दुर्गा जगत जननी है, वह तो सभी भक्तों की माँ है और माँ कभी भी अपने भक्तों अपने पुत्रों को कोई कठिन कार्य  और कष्टों में नहीं डालना चाहती।

इसलिए मां दुर्गा के 32 नामों का जाप करना भी कोई कठिन काम नहीं है, और ना ही इसके लिए कोई विशेष आयोजन करना पड़ता है।

माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप करने के लिए आपको सुबह अच्छे से स्नान करना है, और शुद्ध हो जाना है।

साफ कपड़े पहनकर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके कंबल बिछाकर बैठ जाना है और एक घी का दीपक और अगरबत्ती लगा लेना है,

अगर आपके पास माँ की मूर्ति या तस्वीर है तो उसे भी रख सकते हैं। इसके बाद आप माँ के 32 नामों का जाप 5 बार 11 बार या 21 बार कर सकते हैं।

नवरात्रि के समय माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप करना बहुत ही फलदाई होता है। किंतु नवरात्रि के समय के बाद भी

आप इन नामों का सप्ताह में एक बार जाप अवश्य करें। जिससे आपके घर में सुख संपत्ति हमेशा बनी रहेगी आप सभी प्रकार के कष्टों और दुखों से दूर रहेंगे।

माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप का लाभ Benefits of 32 Names of Maa Durga 

भगवत गीता में कहा गया है, जब कोई व्यक्ति कर्म करता है, तो उसे उसका फल अवश्य मिलता है, यदि आप अच्छे कर्म करते हैं तो

आपको अच्छे ही फल प्राप्त होंगे और बुरे कर्म करते हैं, तो बुरे ही फल प्राप्त होंगे भले ही आप कितना ही उनसे बच के रहो,

इसलिए अगर आप मां दुर्गा के 32 नामों का जाप शुद्ध मन और भक्ति भाव से करते हो और सभी के प्रति दया भावना ईमानदार रहते हो, तो

आपको दुर्गा के 32 नामों के जाप का फल अवश्य प्राप्त होगा। आपके घर में सुख संपत्ति रहेगी आपके घर में खुशहाली रहेगी.

अगर आप शत्रुओं के मध्य फंस गए हैं, तो आप माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप करते हो तो अवश्य आपको उनसे मुक्ति मिल जाएगी।

आप किसी भी प्रकार से किसी असाध्य रोग से ग्रसित क्यों ना हो। आपको माँ दुर्गा के 32 नामों का जाप का लाभ अवश्य ही मिलेगा।

माँ दुर्गा के शक्तिशाली मंत्र Pawaerful Mantras of Maa Durga 

वैसे तो माँ दुर्गा का नाम लेने से सभी रोग और कष्टों का निवारण हो जाता है, किंतु आज हम यहाँ पर माँ दुर्गा के कुछ ऐसे शक्तिशाली मंत्र बताने जा रहे हैं,

जिनका उपयोग करने से आप अवश्य ही विभिन्न प्रकार के कष्टों और मुसीबतों से छुटकारा पा सकते हैं। तो आइए देखते हैं, मां दुर्गा के शक्तिशाली मंत्र:-

सब प्रकार के कल्याण के लिए।

सर्वमङ्गलमाङ्गल्ये, शिवे, सर्वार्थसाधिके।।

शरण्ये, त्र्यम्बके, गौरि नारायणि नमोऽस्तु ते।।

यह दुर्गा माता का मंत्र सभी प्रकार के कल्याण के लिए है। अगर इसे आप नित्य प्रति जाप करते हैं, तो आपका निश्चय ही कल्याण होगा। 

धन लाभ का मंत्र

दुर्गे स्मृता हरसि भीतिमशेषजन्तो

स्वस्थै: स्मृता मतिमतीव शुभां ददासि।

दारिद्रयदु:खभयहारिणि का त्वदन्या

सर्वोपकारकरणाय सदाअद्र्रचित्ता॥

यह माँ दुर्गा का धन प्राप्ति मंत्र है, जिसका जाप करने से धन संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं। आप कर्ज से मुक्त हो जाते हैं,

और आपके घर में धन की कभी कमी नहीं रहती है। इस मंत्र का जाप आप सुबह नहाकर माँ दुर्गा की तस्वीर या मूर्ति के सामने 5 या 11 बार कर सकते हैं।

कष्ट दूर करने का मंत्र

शरणागतदीनार्तपरित्राणपरायणे।।

सर्वस्यार्तिहरे, देवि नारायणि,  नमोऽस्तु ते।

यह माँ दुर्गा का कष्ट निवारण मंत्र है। अगर आप किसी भी बड़े से बड़े कष्ट में फंस गए हैं और आपको यह समझ में नहीं आ रहा है,

कि अब क्या किया जाए तो ऐसे में आप माँ दुर्गा के कष्ट निवारण मंत्र का जाप नित्य प्रति  माता दुर्गा की तस्वीर के सामने कर सकते हैं, जिससे आपको अवश्य ही लाभ होगा।

रोग से मुक्त होने का मंत्र

देहि सौभाग्यमारोग्यं, देहि मे परमं सुखम्।।

रूपं देहि, जयं देहि,  यशो देहि,  द्विषो जहि।

अगर आप लंबे समय से किसी असाध्य रोग से ग्रसित हैं और उस लोग से आप मुक्त नहीं हो पा रहे हैं,

तो आपको मां दुर्गा के उक्त मंत्र का अवश्य जाप करना चाहिए जिससे आप किसी भी प्रकार के रोग से शीघ्र ही मुक्त हो जाएंगे।

मनचाहा साथी प्राप्त करने का मंत्र

पत्नी मनोरमां देहि, मनोवृत्तानुसारिणीम्।।

तारिणीं,दुर्गसंसारसागरस्य, कुलोद्भवाम्।

आज के समय में हर कोई चाहता है, कि उसे एक ऐसी सुंदर और संस्कारी पत्नी मिले जो उसके और उसके परिवार के प्रति अपने कर्तव्यों का पालन ठीक प्रकार से कर सकें।

इसलिए उन लोगों के लिए मां दुर्गा का मनचाहा साथी प्राप्त करने का मंत्र का जाप करने से उनकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होती है।

पुत्र प्राप्ति के लिए मंत्र

देवकीसुत गोविंद वासुदेव जगत्पते ।

देहि मे तनयं कृष्ण त्वामहं शरणं गतः ॥

हिंदू धर्म में ऐसा कहा जाता है, कि माता-पिता के वंश को बढ़ाने के लिए पुत्र अवश्य होना चाहिए। किंतु विभिन्न कारणों के चलते

बहुत से लोगों को पुत्र की प्राप्ति नहीं होती है, ऐसे में आप मां दुर्गा के पुत्र प्राप्ति मंत्र का जाप करें जिससे आपको अवश्य लाभ होगा।

दोस्तों आपने इस लेख में माँ दुर्गा के 32 नाम (32 Names of Maa durga) तथा माँ दुर्गा के शक्तिशाली मन्त्रों के बारे में पढ़ा अगर यह लेख आपको अच्छा लगा होगा तो शेयर जरूर करें।

इसे भी पढ़े:-

  1. माँ काली की कथा
  2. माँ काली के टोटके
  3. माँ काली के 108 नाम




Post a Comment

और नया पुराने
close