माँ लक्ष्मी के मन्त्र और पूजा | Mantra and worship of Maa lakshmi in hindi

माँ लक्ष्मी के मन्त्र और पूजा Mantra and worship of Maa Lakshmi

हैलो दोस्तों आपका हमारे इस लेख माँ लक्ष्मी के मन्त्र (Maa laxmi ke Mantra and worship) में बहुत - बहुत स्वागत है।

दोस्तों आज के इस लेख में हम वैभव धन लक्ष्मी देवी के उन मन्त्रों के बारे में तथा उनके नियम के बारे में बताएँगे जिनसे आपको अवश्य ही धन लाभ होगा

और घर में खुशहाली आएगी। राशि के अनुसार क्या करें जिससे घर में सुख - सम्पति रहे इस पर भी चर्चा की गई है। तो दोस्तों जानते है माँ लक्ष्मी के मन्त्र:-

भगवान विष्णु के 108 नाम

माँ लक्ष्मी के मन्त्र और पूजा

माँ लक्ष्मी के मन्त्र Mantra of Maa Lakshmi 

लक्ष्मी माँ के मंत्र हैं अत्यंत प्रभावशाली, इनके जाप से मिलती मां की अखंड कृपा 

माँ लक्ष्मी धन की देवी माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए हिन्दू धर्मग्रंथो में मंत्रों का जाप करने का विधान बताया गया है.

लक्ष्मी माँ के अनेक मन्त्र है जिनका अलग-अलग मंत्रों के जाप से आर्थिक लाभ होता है और माता की अखंड कृपा से सभी कार्य सफलता पूर्वक सम्पन्न होते हैं। 

1. ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:

कार्य - यह यह वैभव लक्ष्मी माँ का मंत्र है,इस मंत्र का जाप 108 बार करने से व्यक्ति को धन लाभ होता है।

2. धनाय नमो नम:

कार्य - लक्ष्मी मां के इस मंत्र का रोजाना 11 बार जाप करना चाहिए। जिससे व्यक्ति की धन संबंधित परेशानियां दूर होती हैं।

3. ॐ लक्ष्मी नम:

कार्य - लक्ष्मी माँ के इस मन्त्र का अगर जाप किया जाए तो व्यक्ति के घर में लक्ष्मी माँ का वास होता है. और घर में कभी अन्न और धन की कमी नहीं होती है. इस लक्ष्मी माँ के मंत्र का जाप कुश आसन पर बैठ कर ही करना चाहिए.

4. ॐ ह्रीं ह्रीं श्री लक्ष्मी वासुदेवाय नम:

कार्य - इस लक्ष्मी माँ के मंत्र का जाप किसी भी शुभ कार्य करने से पहले किया जाता है. कहा जाता है ऐसा करने से सभी कार्य निर्विघ्न संपन्न होते हैं.

5. लक्ष्मी नारायण नम:

कार्य - इस लक्ष्मी माँ के मंत्र का जाप करने से विवाहित जीवन में सुख-समृद्धि बनी रहती है. पति-पत्नी के बीच का संबंध भी मधुर बनता है, घर में सुख - समृद्धि और खुशहाली आती है।

6. पद्मानने पद्म पद्माक्ष्मी पद्म संभवे तन्मे भजसि पद्माक्षि येन सौख्यं लभाम्यहम्

कार्य - मां लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप 108 बार करना चाहिए इसका जाप स्फटिक की माला के साथ करें तो अच्छा लाभ होगा, घर में हमेशा अन्न और धन की कमी कभी नहीं रहती है.

7. ॐ श्रीं ह्रीं क्लीं श्री सिद्ध लक्ष्म्यै नम:

कार्य - लक्ष्मी माँ के इस मंत्र का जाप करने से व्यक्ति को अवश्य सफलता प्राप्त होती है. इस मन्त्र का उच्चारण करते समय मां लक्ष्मी की चांदी या अष्ट धातु की मूर्ति की पूजा करनी चाहिए.

8 ॐ धनाय नम:

कार्य - माँ लक्ष्मी के इस मंत्र का जाप करने से धन सम्पति मिलती है. इस मन्त्र का जाप शुक्रवार के दिन कमलगट्टे की माला के साथ करने से घर में किसी चीज की कमी नहीं होती है।

9. ॐ ह्रीं श्री क्रीं क्लीं श्री लक्ष्मी मम गृहे धन पूरये- 2 चिंताएं दूरये-दूरये स्वाहा:

कार्य - इस मन्त्र का अगरजाप करने से कर्जे से मुक्ति मिलती है। इससे आर्थिक तंगी दूर हो जाती है। और सारा कर्ज चुक जाता है।

10. ऊं ह्रीं त्रिं हुं फट

कार्य - माँ लक्ष्मी के इस मन्त्र से किसी भी कार्य में सफलता मिल जाती है, इस लिए कोई भी कार्य करने से पहले इस मंत्र का जाप करना चाहिए. इससे लक्ष्मी मां की कृपा हमेशा बनी रहती है।

माँ काली की कथा

घर में ना रहने दें ये चीजें Do not let these things stay in the house

हिन्दू धर्म में भगवान विष्णु की पत्नी व धन और संपत्ति की अधिष्ठात्री मां लक्ष्मी है। धर्म ग्रंथों में बताया जाता है कि माँ लक्ष्मी का प्रदुर्भाव समुद्र से हुआ था।

माँ लक्ष्मी भाग्य की भी देवी हैं। और शुक्रवार को माँ लक्ष्मी का दिन माना जाता है, क्योंकि ज्योतिष में भाग्य का कारक शुक्र ग्रह कहलाता है।

मां लक्ष्मी की पूजा से धन की प्राप्ति तो होती ही है साथ ही वैभव और सुख भी मिलता है। किन्तु लक्ष्मी रुष्ट हो जाएं तो दरिद्रता का सामना करना पड़ता है।

इसलिए कुछ चीजें घर में नकारात्मकता लेकर आती उन्हें ध्यान देना चाहिए हैं, ऐसे में यदि आपको मां लक्ष्मी को प्रसन्न रखना है

और उनका आशीर्वाद चाहिए तो ऐसी चीजों को घर से दूर रखना चाहिए है। जानते है कुछ ऐसी चीजें 

ये चीजें फैलाती हैं नकारात्मकता...

1. मधुमक्‍खी का छत्‍ता : घर में कहीं भी मधुमक्‍खी का छत्‍ता नहीं होना चाहिए। कहा जाता है, कि यह घर में गरीबी, दुख, भुखमरी को आमंत्रित करती है, और व्यक्ति के बुरे दिन आ जाते है।

2. टूटा हुआ दर्पण : जो दर्पण टूट गया है, वह घर में नकारात्‍मक ऊर्जा लाता है, फिर माँ लक्ष्मी घर में प्रवेश नहीं करती।

3. पुराने बिजली के तार : पुराने बिजली के तारों को घर से हटा देना चाहिए जो कि लंबे समय से प्रयोग में न आ रहे हों जिनका उपयोग नहीं होता हो। कहा जाता है, कि पुराने तार व्यक्ति के जीवन को भी उलझा देते हैं।

4. मकड़ी का जाला : वास्‍तु की दृष्टि से घर में मकड़ी का जाला लगना अच्‍छा नहीं समझा जाता है। जो बुरी घटनाओं का संकेत होता है। इसलिए मकड़ी के जाले को घर से तुरंत हटा देना चाहिए।

5. कबूतर का घोंसला : कुछ पक्षियों का घर में आना शुभ होता है, लेकिन कबूतर अगर घर में घोंसला बना ले तो यह अशुभ होता है। इसलिए बिना अंडे वाला कबूतर का घोंसला घर से तुरंत हटा देना चाहिए।

माँ काली के टोटके

माँ लक्ष्मी के मन्त्र और पूजा विधि Mantra and worship of Maa Lakshmi

माँ लक्ष्मी धन की देवी है, किन्तु माँ लक्ष्मी की पूजा से केवल धन लाभ ही नहीं होता बल्कि यश गौरव भी मिलता है।

माँ लक्ष्मी की उपासना से वैवाहिक जीवन भी बेहतर होता है, अगर आप माँ लक्ष्मी की सच्चे मन से पूजा करते हो तो घर में धन की समस्या कभी नहीं रहती है।

माँ लक्ष्मी के निम्न मन्त्रों का पूजा के समय उच्चारण करना चाहिए उससे पहले निन्म कार्य करें

सबसे पहले सुबह उठकर नित्य कार्य करें और फिर ब्रह्म मुहूर्त में पानी में थोड़ा सा दही मिलकर स्नान करें।और नहाते समय लक्ष्मी-नारायण का ध्यान करें।

लक्ष्मी नारायण मंदिर में या घर के पूजाघर में लक्ष्मी-नारायण की पूजा करें और गुलाबी फूल चढ़ाएं। तथा इस मन्त्र का श्रीं जगतप्रसूते नमः" जाप करें।

लक्ष्मी-नारायण के चंदन से तिलक करें और खीर किसी कन्या को खिलाएं। ऐसा करने से कर्ज से छुटकारा, व्यवसाय में सफलता तथा घर घन धान्य से भरा रहता है।

माँ लक्ष्मी का यह मन्त्र आपके जीवन में खुशहाली लाएगा इससे पहले आपको घ्यान देना है कि शाम के समय सूर्यास्त से पहले घर की उत्तर दिशा में लक्ष्मी का चित्र स्थापित करें।

गाय के घी में इत्र मिलाएं और दीपक करें, मोगरे की अगरबत्ती जलाएं, अबीर से मस्तक का तिलक करें, फिर दही में शक्कर मिलाकर माँ को भोग लगाएं।

अब माँ लक्ष्मी पर हल्दी चढ़ी हुई 22 कौड़ी चढ़ाएं, तथा स्फटिक की माला से "ॐ श्रीं नमः" मंत्र का जाप करना प्रारम्भ करें।

जाप पूरा होने के बाद 11 कौड़ी लाल कपड़े में बांध लें और उनको अपनी धन की तिजोरी में रखें तथा 11 कौड़ी को जल प्रवाह करे दें।

राशि के अनुसार करें यह कार्य Do this work according to the zodiac

अगर आप मां लक्ष्मी की कृपा पाना चाहते हैं तो राशि के अनुसार करें यह कार्य 

1. मेष राशि वाले चंदन से तिजोरी "श्रीं" लिखें।

2. वृषभ राशि वाले महालक्ष्मी पर चढ़ा दही शक्कर खाएं।

3. मिथुन राशि के जातक पक्षियों के लिए चावल रखें।

4. कर्क राशि के लोग सफ़ेद गाय को जौ खिलाएं।

5. सिंह राशि के जातक किसी भिखारी को रेशमी कपड़ा दान करें।

6. कन्या राशि के जातक कंठ पर इत्र लगाएं।

7. तुला राशि के लोग मुलतानी मिट्टी का इस्तेमाल करें।

8. वृश्चिक राशि वाले बेडरूम में कर्पूर जलाएं।

9. धनु राशि के जातक शाम के समय तुलसी पर शुद्धघी का दीपक करें।

10. मकर राशि के लोग नाभि पर इत्र लगाएं।

11. कुंभ राशि के जातक लक्ष्मी मंदिर में आटा दान करें।

12. मीन राशि के लोग सफ़ेद गाय को मीठे चावल खिलाएं।

माँ लक्ष्मी की पूजा और सावधानियाँ Worship and precautions of Maa Lakshmi

मां लक्ष्मी की पूजा हमेशा श्वेत या गुलाबी वस्त्र पहन कर करनी चाहिए।

माँ लक्ष्मी की पूजा का उत्तम समय गोधूली वेला या मध्य रात्रि होता है 

मां लक्ष्मी के उस चित्र या मूर्ति की की पूजा करनी चाहिए जिसमे वह गुलाबी कमल के पुष्प पर बैठी हों।और उनके हाथों से धन बरस रहा हो।

कियोकि मां लक्ष्मी को गुलाबी पुष्प विशेषकर कमल पुष्प अर्पित करना चाहिए 

मां लक्ष्मी के मंत्रों का जाप स्फटिक की माला के साथ करना चाहिए जो प्रभावशाली होता है।

दोस्तों इस लेख में आपने माँ लक्ष्मी के मन्त्र, पूजा, (Maa laxmi ke Mantra and worship) सावधानियाँ पढ़ी, आशा करता हुँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

  1. माँ लक्ष्मी के 108 नाम अर्थ और महत्त्व
  2. माँ काली के 108 नाम अर्थ और महत्त्व





Post a Comment

और नया पुराने
close