शेर पर निबंध हिंदी में Essay on lion in hindi

शेर पर निबंध हिंदी में Essay on lion in hindi 

हैलो दोस्तों आपका बहुत-बहुत स्वागत है, हमारे इस लेख शेर पर निबंध हिंदी essay on lion in hindi में यह लेख कक्षा 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11,12 तथा उच्च कक्षाओं के

विद्यार्थियों के लिए लाभदायक सिद्ध होगा। इसके साथ ही आप यहाँ से शेर पर निबंध लिखने का आईडिया भी ले सकते हैं।

यहाँ पर शेर पर निबंध हिंदी में प्रस्तुत किया गया है, जिसके बारे में समस्त जानकारी दी गई है। तो आइए दोस्तों शुरू करते हैं, आज का यह लेख शेर पर निबंध हिंदी में:-

शेर पर निबंध हिंदी में

शेर पर निबंध 100 शब्दों में Essay on lion in 100 words 

शेर एक जंगली खूंखार तथा सबसे खतरनाक मांसाहारी (Non-vegetarian) जानवर होता है। जो बड़े-बड़े और घने जंगलों में रहना अधिक पसंद करता है।

शेर इतना ताकतवर होता है, कि उससे जंगल के सभी जानवर डरते हैं। इसलिए उसे जंगल का राजा भी कहा जाता है। शेर मांसाहारी प्राणी होता है,

इसलिए यह जानवरों का शिकार करता है और उनका उपयोग भोजन के रूप में करता है। एक स्वास्थ्य शेर 1 दिन में लगभग 10 किलो तक मांस खा सकता है।

एक स्वस्थ शेर का बजन लगभग 200 किलोग्राम तक हो सकता है, जबकि शेरनी का वजन 180 किलोग्राम तक हो सकता है।

शेर बिल्ली की फैमिली का ही एक जानवर है, इसके जबड़े बड़े-बड़े तथा नुकीले होते हैं। इसलिए यह जबड़े में अपने शिकार को इस तरह फंसा लेता है कि इसके चुंगल से निकलना बहुत मुश्किल होता है।

शेर पर निबंध हिंदी में

चीता पर निबंध 

शेर पर निबंध 250 शब्दों में Essay on lion in 250 words 

शेर एक खूंखार मांसाहारी प्राणी होता है, जो अक्सर जंगलों में रहना पसंद करता है। शेर की गति (Speed)  50 किलोमीटर से 80 किलोमीटर प्रति घंटा होती है।

इसलिए ये अपने शिकार को आसानी से पकड़ लेता है। शेर मुख्यतः घने जंगलों में गुफाओं (Caves) में रहना पसंद करता है। जो दिन में लगभग 18 घंटे तक सोता है।

शेर की गर्जना बड़ी भयानक होती है, जो कम से कम 5 किलोमीटर दूर तक सुनाई देती है। शेर से सभी जंगल के प्राणी डरते हैं

इसलिए शेर को जंगल का राजा (King of Forest) भी कहा जाता है। शेर  बड़े-बड़े पशुओं का शिकार करते हैं, जिनमें भैंसा, जंगली भेड़िया, जंगली कुत्ते, हिरन, बारहसिंघा 

जेबरा आदि प्रमुख हैं। एक सामान्य शेर की लंबाई 3 से 5 फीट तक हो सकती है, जबकि इनका वजन 200 किलोग्राम के आसपास ही होता है।

शेर हमेशा ताजा मांस खाना पसंद करते हैं, इसलिए रोज अपना शिकार करते हैं। शेर को रात में शिकार करना अधिक पसंद होता है

क्योंकि रात में अन्य पशु तेजी से नहीं भाग पाते। लेकिन शेर तेंदुआ, चीता, बाघ, हाथी तथा शुतुरमुर्ग पर कभी भी अकेले हमला नहीं करते, ये प्राणी अकेले ही शेर से निपटने के लिए सक्षम होते हैं।

तेंदुआ पर निबंध

शेर पर निबंध 500 शब्द में Essay on lion in 500 words 

जंगल में बहुत से खूंखार (Dreaded) जानवर होते हैं। लेकिन जब सबसे खूंखार जानवर की बात की जाती है, तो उनमें शेर का नाम सबसे पहले आता है।

शेर एक फुर्तीला और तेज दौड़ने वाला जानवर होता है। जो अपने शिकार को आसानी से पकड़ लेता है। शेर फेलिड़े परिवार के अंतर्गत आता है जो बिल्ली परिवार का ही एक सदस्य है।

कुछ समय पहले शेर विश्व के सभी भागों में पाया जाते थे। किंतु  इनके शिकार तथा पर्यावरण परिवर्तन होने के कारण अब इनकी संख्या दिनों दिन घटती जा रही है।

यहाँ तक कि बहुत से देशों में तो इनकी संख्या ना के बराबर ही है। वर्तमान में एशिया तथा अफ़्रीका के कुछ देशों में ही शेर पाए जाते हैं।

जो बड़े-बड़े घने जंगलों में गुफाओं में रहना पसंद करते हैं। शेर का औसत जीवनकाल (Life span) जंगल में 10 से 12 वर्ष का होता है।

क्योंकि वृद्धाअवस्था में शेर को अन्य पशु मार देते हैं, किंतु अगर शेर को चिड़ियाघर (Zoo) में संरक्षण दिया जाता है, तो वहाँ उनका औसत जीवनकाल 20 साल तक भी हो सकता है।

शेर का बजन 200 से 250 किलो जबकि ऊंचाई 3 से 5 फीट तक हो सकती है। शेर बारहसिंघा, हिरन, जंगली भैंसा, जंगली सूअर, भेड़िया,  कुत्ता आदि का शिकार करना अधिक पसंद करता है।

किंतु अकेले कभी भी तेंदुआ,  चीता,  बाघ, जिराफ,  हाथियों पर आक्रमण नहीं करता है। जब शेर झुंड में होते हैं तब वह इन प्राणियों पर आक्रमण करते हैं।

शेर तथा शेरनी दोनों एक दिन में 8 से 10 किलो तक मांस खा जाते हैं। वही शेरनी का गर्भकाल 250 दिन तक होता है और वह एक बार में 5 से 6 बच्चों को जन्म देती है, जिन्हे शावक कहते हैं।

शेरनी अपने बच्चों को कम से कम 6 महीने तक अकेले नहीं छोड़ती, वरना इनके बच्चों को अन्य शिकारी जानवर शिकार कर सकते हैं। 6 महीने तक शेरनी अपने बच्चों को अपना ही दूध पिलाती है

शेर पर निबंध 1000 शब्दों में Essay on Lion in 1000 words 

संसार में ऐसे बहुत से जीव हुए हैं, जो अपने आक्रामक और खूंखार प्रकृति के स्वभाव के कारण जाने जाते हैं। उनमें से एक खूंखार प्रकृति वाला जानवर शेर है, जिसे हिंदी में शेर तथा संस्कृत में सिंह कहा जाता है।

और लोग इसे बब्बर शेर (Babbar lion) के नाम से भी जानते हैं। यहाँ पर शेर पर निबंध 1000 शब्दों में बताया गया है, जो परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण सिद्ध हो सकता है।

शेर क्या है what is lion 

शेर जंगल में रहने वाला एक मांसाहारी जानवर है, जो अपनी खूंखार प्रकृति तथा ताकत के कारण पूरे जंगल में  राजा कहा जाता है।

शेर एक बिल्ली की फैमिली का ही जानवर होता है, जिसका वैज्ञानिक नाम लियो पैंथेरा (Leo panthera) है। शेर का शरीर बहुत ही विशाल तथा हष्ट पुष्ट होता है,

जो वर्तमान में एशिया तथा अफ्रिका महाद्वीप के जंगलों में पाया जाता है। शेर जंगल का सबसे शक्तिशाली जानवर होता है,

इसलिए सब जानवर इससे बचते फिरते हैं। क्योंकि यह ताकतवर होने के साथ ही खूंखार प्रकृति का जानवर है, जो किसी भी जानवर को अपना शिकार बनाने से नहीं चूकता।

शेर कहाँ पाए जाते हैं where does lion live 

शेर विश्व के सभी क्षेत्रों में पाए जाने वाला एक जानवर है, किंतु प्राकृतिक पर्यावरण में हस्तक्षेप करने के कारण तथा इनकी बढ़ती हुई शिकार की दृष्टि से आज शेर केवल अफ्रीका

और एशिया महाद्वीप में ही सिमट कर रह गया है। शेर अफ्रीका और एशिया महाद्वीप के विभिन्न देशों में जंगलों में पाया जाता है, जो जंगलों में गहरी गुफाओं में रहना पसंद करता है।

वर्तमान समय में शेरों की संख्या कम होती जा रही है, जिसके कारण शेरों का विभिन्न प्रकार के राष्ट्रीय पार्क (National park) और अभयारण्य (Sencturi) में संरक्षण किया जा रहा है।

इसके साथ ही आप शेर को चिड़ियाघरों में भी देख सकते हैं, जहाँ पर शेर दर्शकों को प्रभावित और उनका मनोरंजन करते हैं।

शेर को विभिन्न में सर्कसों में भी देखा जा सकता है, जहाँ पर शेर ना-ना प्रकार के करतब दिखाते हैं जिन्हें लंबे समय की ट्रेनिंग के बाद ही ट्रेंड किया जाता है।

शेर की आकृति structure of lion 

शेर देखने में बहुत ही भयानक हष्ट-पुष्ट और शक्तिशाली नजर आता है,  इसके पूरे शरीर पर छोटे-छोटे भूरे रंग के बाल होते हैं, गर्दन पर बड़े लंबे-लंबे बाल पाए जाते हैं,

जो नर की मुख्य पहचान होती है। शेर की चार मजबूत टांगे होती है, जिनकी सहायता से वह 70 से 80 किलोमीटर प्रति घंटा दौड़ने की क्षमता रखते हैं।

शेर के पंजे पर बड़े-बड़े लंबे-लंबे नुकीले नाखून होते हैं। जिनकी सहायता से वह शिकार (Hunt) को चीर कर फाड़ देता है।

सिर की आंखें गोल-गोल बड़ी-बड़ी जिनका बाहरी आवरण भूरा तथा अंदर का आवरण काला होता है। शेर की एक लंबी पूँछ होती है,

जिसके अंतिम भाग पर बालों का गुच्छा सा पाया जाता है। पूछ की सहायता से ही शेर तेज दौड़ने में और छलांग लगाने में अभ्यस्त हो जाते हैं।

शेर क्या खाता है what does lion eat 

शेर जंगल में रहने वाला एक खूंखार मांसाहारी प्रकृति का प्राणी होता है। इसलिए यह भोजन के तौर पर मुख्यतः ताजा मांस खाना पसंद करता है।

इसीलिए शेर ताज़ा मांस प्राप्त करने के लिए रोज शिकार करता है और 8 से 10 किलो मांस अकेले ही खा जाता है।

जबकि शेरनी भी 8 से 10 किलो मांस खाती है। किंतु जब शेरनी के छोटे-छोटे बच्चे होते हैं, तब से शेरनी को भोजन की चिंता होती है,

क्योंकि वह अपने छोटे बच्चों को छोड़कर शिकार के लिए नहीं जा सकती इसलिए ये झुंड में रहना पसंद करते हैं तथा भोजन की समस्या भी नहीं रहती। क्योंकि यह सभी अपना भोजन एक साथ मिलकर शेयर (Share) करते हैं।

शेर की प्रजातियाँ तथा संरक्षण Lion Species and Conservation

बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण जंगलों का सफाया किया जा रहा है, जिससे शेर की विभिन्न प्रजातियों का शिकार किया जा रहा है।

इसके साथ ही पर्यावरण परिवर्तन के कारण भी उनकी प्रजातियों का अस्तित्व संकट में पड़ता जा रहा है। साधारणतया: शेरों की दो प्रकार की प्रजातियाँ हैं,

एशियाई शेर और अफ्रीकन शेर जिनमें से एशियन शेर का निवास स्थान तथा संरक्षण गुजरात के गिर राष्ट्रीय उद्यान में किया जा रहा है।

जहाँ शेरों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, शेरों की जनगणना 2015 के अनुसार 523 थी। जो 2020 की जनगणना (Census) के अनुसार बढ़कर 675 से ही पार हो गई।

शेर के बारे में अन्य जानकारी other information of lion 

शेर बिल्ली की प्रजाति का ही एक जानवर होता है। जिसकी आयु जंगल में तो 10 से 12 साल होती है, किंतु इनका संरक्षण किया जा रहा है तो इनकी आयु 20 साल तक भी हो सकती है।

एक मादा शेरनी का गर्भकाल 250 दिन का होता है, जो एक बार में 5 से 6 बच्चों को जन्म देती है, जिन्हे शावक कहते हैं।

शेरनी अपने बच्चों को 6 महीने तक बाहर नहीं निकालती तथा वह उन्हें अपना ही दूध पिलाती है। शेर की वास्तविक लंबाई लगभग 5 फीट तक तथा शेरनी की लंबाई 3 से 4 फीट तक हो सकती है,

जबकि एक स्वास्थ्य और सामान्य शेर का वजन 200 से 250 किलो तथा शेरनी का बजन 180 से 200 किलो तक हो सकता है।

शेर की विशेषताएँ Characteristics of Lion

  1. शेर एक मांसाहारी प्राणी होता है जो हमेशा मांस ही खाता है।
  2. शेर का वैज्ञानिक नाम पैंथेरा लिओ है जो बिल्ली की फैमिली फेलिड़ो से आता है।
  3. शेर एक सबसे शक्तिशाली और ताकतवर जानवर होता है।
  4. शेर की दो प्रजातियाँ हैं, एशियाई शेर जो एशिया के कुछ देशों में पाया जाता है और दूसरी है अफ्रीकन शेर जो अफरीका महादीप के कुछ स्थानों पर मिलते हैं।
  5. एशियाई शेर को बब्बर शेर के नाम से जाना जाता है. जिसके गर्दन पर लंबे-लंबे भूरे बाल होते हैं।
  6. एक शेर दिन में लगभग 8 से 10 किलो ताजा मांस खाता है।
  7. शेरनी का गर्भकाल 250 दिन के आस पास होता है, और एक बार में 4 से 6 बच्चों को जन्म देती है।
  8. सामान्य शेर का बजन 200 किलोग्राम से 250 किलोग्राम तक जब शेरनी का वजन 170 किलोग्राम से 200 किलोग्राम तक हो सकता है।
  9. शेर और शेरनी 1 दिन में लगभग 18 से 20 घंटे तक सोना पसंद करते हैं।
  10. शेर का संरक्षण कई भारत में गुजरात गिर अभ्यारणय में किया जा रहा है। 

निष्कर्ष - शेर एक मांसाहारी खूंखार प्रकृति का जानवर होता है, किंतु इनका पर्यावरण संतुलन में अहम योगदान होता है, इसलिए पर्यावरण संतुलन को स्थाई बनाने के लिए शेरों का शिकार नहीं करना चाहिए बल्कि उनका संरक्षण करना चाहिए।

दोस्तों इस लेक लेख में आपने शेर पर निबंध (Essay on lion) पड़ा, आशा करता हुँ, आपको यह जानकारी पसंद आयी होंगी।

इसे भी पढ़े:-

  1. हाथी पर निबंध
  2. तोता पर निबंध
  3. घोड़ा पर निबंध


0/Post a Comment/Comments

в