भारतीय किसान पर निबंध

भारतीय किसान पर निबंध Essay on Indian farmer in hindi 

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, आजके हमारे इस लेख भारतीय किसान पर निबंध (Essay on Indian Farmer) में। दोस्तों इस लेख में भारतीय किसान पर निबंध के साथ भारतीय किसान की स्थिति, भारतीय किसान का महत्व,

भारतीय किसान की परेशानियाँ,सरकार के द्वारा भारतीय किसानों को राहत दी जाने वाली योजनाओं के बारे में चर्चा की जाएगी। तो आइए दोस्तों करते हैं, यह लेख शुरू भारतीय किसान पर निबंध:-

ग्लोबल वॉर्मिंग पर निबंध

भारतीय किसान पर निबंध

प्रस्तावना Introduction 

भारतीय किसान पर निबंध - भारत एक कृषि प्रधान देश है, क्योंकि भारत की 70% से भी अधिक जनता कृषि से अपनी आजीविका कमाती है, और जो व्यक्ति कृषि का कार्य करते हैं,

फसल उत्पादन करते हैं, उन व्यक्तियों को हम किसान कहते हैं। क्योंकि किसान ही वे व्यक्ति होते हैं, जिन्हें हम अन्नदाता कहते है। क्योंकि किसान ही सभी प्रकार के अन्न की पैदावार अपने खून पसीने से करते हैं,

और यह अनाज हमारे शरीर को सिंचित करता है, पोषण देता है। किसान बड़े मेहनती व्यक्ति होते हैं, जो दिन-रात अपने खेतों में बड़ी ही बहादुरी और मेहनत के साथ कार्य करते हैं।

जिसके परिणाम स्वरूप आज हम हष्ट पुष्ट और एक बलवान शरीर धारण कर पाते हैं, इसीलिए किसानों को देश का अन्नदाता कहा जाता है।

किसान का कार्य Work of farmer 

किसान मुख्यत: उस व्यक्ति को कहा जाता है, जो अपनी जमीन पर या किसी अन्य की जमीन पर विभिन्न प्रकार की खाद्यान्न फसलों को उपजाता है। इस कार्य को खेती, किसानी या फार्मिंग कहा जाता है।

किसान का मुख्य कार्य फसल उत्पादन होता है। जिसके लिए वह दिन-रात कड़ी मेहनत करता है। अपने वखर, ट्रैक्टर के द्वारा सबसे पहले धरती को जोतता है, उसके बाद उस धरती में पानी

लगाने के पश्चात वह उसमें किस चीज की फसल प्राप्त करना चाहता है, मौसम और पानी के अनुसार उस चीज को वो देता है। इस कार्य में उसे विभिन्न प्रकार की परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है।

बीज बो देने के पश्चात वह पानी देता है और फसल की देखरेख करता है, जब फसल आ जाती है, तो फसल को कीड़ों से बचाने के लिए कीटनाशक दवा का छिड़काव करता है, जानवरों से फसलों को बचाने के लिए

दिन-रात जाड़ा, गर्मी, वर्षा हर मौसम में खेतों पर ही रहता है और जब फसल पक जाती है, तब उसे काटकर बाजार में बेच कर अपना

जीवन यापन करता है। किसान का कार्य सबसे महत्वपूर्ण और जिम्मेदारी का कार्य होता है।क्योंकि वह विभिन्न प्रकार की खाद्यान्न फसलों को उपजाता है, साग-सब्जियों की खेती

किसानों के द्वारा ही की जाती है, जिसे किसान बाजार में बेचते हैं और मनुष्य उसका उपभोग करते हैं। वास्तव में किसानों का यह कार्य बहुत ही साहसपूर्ण और चुनौती भरा होता है। 

किसान की परेशानियाँ Problems of farmer 

किसान वह व्यक्ति होता है, जो खून पसीने को बहाकर सभी लोगों के लिए अनाज तथा साग-सब्जियाँ और फल उपलब्ध कराता है, किंतु वास्तव में किसान बहुत गरीब होते हैं, उनकी भी कई दुख ऐसे होते हैं,

जिन्हें सुनकर आपकी आंखों स्वत: ही आंसू आ जाएंगे। किसानों का जीवन बहुत ही कठिन होता है। उनके जीवन में कई परेशानियाँ आती-जाती रहती हैं।

किसान सुबह से लेकर रात तक धूल मिट्टी में सने रहकर खेतों में काम करते हैं। हर वक्त उन्हें अपनी जिंदगी खोने का डर लगा रहता है,

क्योंकि वह गांव से दूर बाहर खेतों में कार्य करते हैं, जहाँ पर जंगली जानवरों का डर सांप बिच्छू का डर हमेशा बना रहता है। बहुत से किसान जंगली जानवरों का शिकार बन जाते हैं,

तो बहुत से किसान कई विषैले जानवरों के द्वारा काटे जाने से भी मर जाते हैं, लेकिन किसानों की परेशानी यहाँ पर बंद नहीं होती, उचित समय पर वर्षा ना होने के कारण किसानों की फसल बर्बाद हो जाती है,

पर्यावरण (Invironment) असंतुलित हो जाने के कारण ठीक समय पर वर्षा ना होना, सूखा (Drought) जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाना, कभी-कभी अधिक बारिश का होना, ओलावृष्टि होना आदि से किसानो की फसल चौपट हो जाती है।

और उन्हें भारी नुकसान उठाना पड़ता है, इसलिए कहा जा सकता है, कि एक किसान के जीवन में परेशानियों का तो जंजाल भरा रहता है। 

भारतीय किसान का महत्व Importence of indian farmer 

किसानों का महत्व भारतीय अर्थव्यवस्था सर्वाधिक है। इसलिए कृषि को भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ कहा जाता है। इसके साथ ही भारतीय किसान का महत्व उस मनुष्य के जीवन में भी है,

जो अनाज खाता है, सब्जी का उपभोग करता है। क्योंकि यह एक किसान के कड़ी मेहनत के परिणाम होते हैं। भारतीय किसान ही वे योद्धा होते है,

जो धरती का सीना चीर कर अनाज तथा खाद्यान उपजाते है। गाय भैसो को पालकर हमें शुद्ध पोष्टीक दूध प्राप्त कराते है। दूध से कई व्यजन भी बनते है। सभी सब्जियाँ, टमाटर, आलू, बैगन मिर्च मशाले,

फल सब कुछ किसानों की ही देन है, इसलिए किसान का सभी लोगों को सम्मान करना चाहिए तथा दुख में उसका साथ देना चाहिए। 

सरकार द्वारा किसानों के लिए योजना Govt plan for Farmer 

भारत सरकार के द्वारा किसानों की परेशानियों को कम करने के लिए विभिन्न प्रकार की किसान उद्धारक योजनाओं को चलाया है जिनमें से कुछ निम्न प्रकार से हैं:- 

प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना - प्रधानमंत्री किसान ट्रैक्टर योजना वर्ष 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा चलाई गई योजना है इस योजना में सब्सिडी पर पात्र किसानों को ट्रैक्टर दिलाया जाएगा।

किसान मित्र योजना - किसान मित्र योजना हरियाणा सरकार के द्वारा किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए चलाई गई यह योजना है।

कृषि उड़ान योजना - यह योजना केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमन द्वारा चलाई गई है। जिसमें हवाई सेवा द्वारा कृषि उत्पादों को तुरंत बाजारों तक पहुँचाया जायेगा।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना - यह योजना प्रधानमंत्री द्वारा 2018 में चलाई गई, जिसमें 2 हेक्टेयर से कम भूमि वाले किसानों को सालाना 6000 rs आर्थिक सहायता दी जाएगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना - यह योजना किसानों के लिए है, जिसमें किसानों की फसल जब प्राकृतिक कारणों जैसे ओलावृष्टि, अधिक वर्षा, सूखा आदि के कारण नष्ट होती है, तो उन्हें फसल बीमा के तहत आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। 

इसके साथ किसानों की स्थिति में सुधार लाने के उद्देश्य से भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा किसान क्रेडिट योजना, पशुधन बीमा योजना,

स्माम किसान योजना, राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना जैसी कई योजनाएँ संचालित की जा रही है, और सरकार द्वारा समय - समय पर लागू की जाती है। 

निष्कर्ष Conclusion 

इसमें कोई शक नहीं है, कि किसान ही देश का अन्नदाता है। कियोकि किसान ही अन्न को धरती का सीना चीरकर पैदा करता है।

किन्तु कई जगहों पर किसानों की स्थिति दयनीय है। किसान इतने कर्जे में हो जाते है कि उन्हें आत्महत्या जैसे कदम उठाने पड़ते है।

परन्तु अब भारत सरकार किसानों के बारे में सोच रही है उनके कर्ज माफ़ी तथा वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने के साथ ही कई प्रकार से

उन्हें कृषि वैज्ञानिकों द्वारा कृषि से सम्बंधित मार्गदर्शन भी दिया जा रहा है। ताकि किसानों की स्थिति में सुधार लाया जा सके।

दोस्तों इस लेख में आपने किसान पर निबंध (Essay on Farmer) हिंदी में पड़ा आशा करता हुँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

  1. दूरदर्शन पर निबंध
  2. मंहगाई पर निबंध
  3. वृक्षारोपण पर निबंध