समय का सदुपयोग पर निबंध Essay on utilization of time 

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख समय का सदुपयोग पर निबंध हिंदी में (Essay on utilization of time)। यहाँ पर आप समय का सदुपयोग पर निबंध प्रमुख हैडिंग्स के साथ जान पायेंगे।

यह निबंध कक्षा 5 से कक्षा 12 वीं तथा उच्च कक्षाओं में भी पूँछा जाता है। यहाँ से आप निबंध लिखने का आईडिया भी ले सकते है, तो आइये दोस्तों शुरू करते है, यह लेख समय का सदुपयोग पर निबंध:-

ध्वनि प्रदूषण पर निबंध

समय का सदुपयोग पर निबंध


समय का सदुपयोग पर निबंध 100 शब्द Samay ka sadupyog par nibandh 100 words 

समय अमूल्य संपदा है, जो सभी व्यक्तियों के पास बराबर बराबर मूल्य की होती है, तथा समय के साथ हर एक कार्य अपने आप होता रहता है।

प्रकृति के सभी कार्य समय के साथ होते है, समय के साथ सूर्य उगता है, अस्त होता है, समय के साथ दिन-रात होते है, जाड़ा, गर्मी वर्षा सभी समय के अनुसार ही घटित होते है।

इसीलिए सभी व्यक्तियों को समय के महत्व को समझना चाहिए और समय का सदुपयोग करना चाहिए, क्योंकि समय ही एक ऐसी अमूल्य संपदा है, जो एक बार बीत जाती है, तो जिंदगी में कभी लौटकर नहीं आ सकती।

इसीलिए जो व्यक्ति समय के साथ चलते हैं, समय का सदुपयोग करते हैं, वह अपने जीवन में सफल होते हैं। आज के समय में बहुत सारे ऐसे उदाहरण हैं

जैसे कि डॉ एपीजे अब्दुल कलाम जिन्होंने समय की कीमत को समझा और समय के साथ हर एक चुनौती को स्वीकार करते हुए उन्हें पार करते गए

जिस कारण आज उन्हें भारत के राष्ट्रपति (President) और महान वैज्ञानिक (Scientist) होने का गौरव प्राप्त है, इसलिए समय की महत्वता के बारे में व्यक्ति को समझना चाहिए

जो मनुष्य समय का दुरूपयोग करते है, वे कभी किसी कार्य में सफल नहीं होते, उनकी जग हँसाई होती है, किन्तु समय का सदुपयोग करने वाले सम्मान के पात्र होते है, वह समय का सदुपयोग करके अपना जीवन सफल बनाते है।

समय का सदुपयोग पर निबंध

समय का सदुपयोग पर निबंध 300 शब्द Samay ka sadupyog par nibandh 300 words 

विश्व में यदि सबसे अधिक मूल्यवान कोई भी वस्तु है, तो उस वस्तु को समय के नाम से जाना जाता है, क्योंकि हम अन्य वस्तुओं को तो दोबारा भी प्राप्त कर सकते हैं, किन्तु समय को नहीं।

समय एक बार बीत जाए तो उसको हम कभी भी दोबारा प्राप्त नहीं कर सकते, क्योंकि समय कभी भी किसी की प्रतीक्षा नहीं करता वह तो स्वतंत्र रूप से चलता रहता है।

प्रकृति के समस्त कार्य समय के अधीन हैं, जन्म,बचपन,जवानी बुढ़ापा सब समय के साथ बीत जाते हैं, इसीलिए सभी मनुष्यों को समय के महत्व को जानना चाहिए और समय का सदुपयोग करना चाहिए।

क्योंकि जो भी व्यक्ति समय के साथ चलते हैं, वह अपने जीवन में सब कुछ प्राप्त करते हैं और देश तथा समाज में सम्मान के पात्र होते हैं।

आज मनुष्य ने जो प्रगति की है, जो सुख के साधन मनुष्य के पास है वे समय के सदुपयोग के कारण ही है। अगर आप समय बर्बाद कर दोगे तो समय आपको बर्बाद कर देगा।

इसलिए समय का महत्व सभी के लिए जरूरी है, चाहे वह विद्यार्थी हो या फिर कोई बिजनेसमैन सभी को समय की परख करनी चाहिए और समय के साथ निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए

तभी वह व्यक्ति समय का सदुपयोग करके एक सफल व्यक्ति के रूप में उभर सकता है, जो लोग समय के महत्व को नहीं समझते समय का दुरपयोग करते है,

वे अपने जीवन में सफल नहीं होते और जिंदगी भर पछताते है। उन्हें जिंदगी में कुछ हांसिल नहीं होता उन्हें कई दुख झेलने पड़ते है।

इसलिए समय के महत्व को पहचानकर प्रत्येक मनुष्य को सही दिशा में कार्य करते रहना चाहिए। संसार के जितने भी सफल व्यक्ति हैं, उनकी सफलता का मूल मंत्र समय का सदुपयोग ही है।

अगर कोई भी सफल व्यक्ति बनना चाहता है तो उसे समय के मूल्य को समझना चाहिए और उस पर विचार करके अपने आप को प्रगति के पथ पर अग्रसर करते रहना चाहिए। जिससे आप को अपने लक्ष्य में सफलता प्राप्त होगी और आप एक सफल व्यक्ति बन पायेंगे। 

समय के सदुपयोग पर निबंध Essay on value of time 

दोस्तों यहाँ पर समय के सदुपयोग पर निबंध (Essay on utilization of time) सरल भाषा में समझाने का प्रयास किया गया है। 

प्रस्तावना Introduction 

संपूर्ण सृष्टि का निर्माता परमात्मा है। परमात्मा ने सभी जीव जंतुओं के लिए कई प्रकार की अमूल्य वस्तुएँ प्रदान की है, जिनमें से एक अमूल्य संपदा का नाम है "समय" समय की सृष्टि स्वयं परमात्मा ने की है।

इसलिए समय सभी जीव जंतुओं और मनुष्यों के लिए निशुल्क और बराबर महत्व का है, किन्तु यह इतना मूल्यवान होता है, कि इसकी तुलना हम किसी भी वस्तु से नहीं कर सकते।

क्योंकि समय हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा (Critical part) है और समय के बिना तो जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती। अगर समय रुक जाएगा तो यह संपूर्ण प्रकृति चक्र ही रुक जाएगा।

इसलिए प्रत्येक मनुष्य और जीव जंतुओं के जीवन में समय का सर्वाधिक महत्व है। समय जीवन का आधार है, तो उन्नति तथा अवनति का परिणाम भी है।

इसलिए जीवन का मूल मन्त्र है समय के साथ चलना और समय के महत्व को समझना, क्योंकि जब संपूर्ण प्रकृति ही समय के अनुसार चल रही है, तब जीव जंतु और मनुष्य किस खेत की मूली है। 

समय का महत्व Samay ka mahatv 

समय का महत्व समस्त संसार के जीव जंतुओं और मनुष्यों के लिए है, क्योंकि समय ही एक ऐसी वस्तु है, जिसे आप अगर एक बार खो देते हैं, तो किसी भी कीमत पर दोबारा प्राप्त नहीं कर सकते।

इसलिए समस्त लोगों को समय के महत्व को समझना चाहिए और उसका सदुपयोग करना चाहिए, जिस प्रकार अगर कोई विद्यार्थी है, तो उसे अपने विद्यार्थी जीवन तथा अध्ययन पर ध्यान देना चाहिए

क्योंकि जो अध्ययन का समय होता है अगर वह एक बार निकल जाए तो वह बार-बार लौटकर नहीं आता है। विद्यार्थी जीवन में समय का अधिक महत्व है क्योंकि विद्यार्थी ही विश्व के भविष्य निर्माता कहे जाते हैं।

इसलिए विधार्थियों को समय के महत्व को समझते हुए अपना मन अध्ययन (Study) में लगाना चाहिए तो वह अवश्य ही सफल होंगे।

इसलिए प्रत्येक व्यक्ति को समय के महत्व को समझना चाहिए और समय का सदुपयोग निरंतर करते रहना चाहिए। जो समय का सदुपयोग नहीं करता है, वह कभी भी सफल व्यक्ति नहीं कहा जा सकता। 

समय के सदुपयोग से लाभ Samay ke sadupyog se labh 

मनुष्य के जीवन में कई प्रकार के ऐसे अवसर आते हैं, जो मनुष्य को खुशी और सम्पन्नता देते है किन्तु मनुष्य उन्हें गवा देता है, कियोकि उन्हें उस समय समय का उपयोग और उसका सदुपयोग करना नहीं आता।

और वे बाद में पछताते है, क्योंकि समय के साथ प्रत्येक मनुष्य के जीवन में विभिन्न प्रकार के ऐसे अवसर होते है, जिससे वह अपने जीवन को ही बदल सकता है।

समय के सदुपयोग के कारण मनुष्य अपने आध्यात्मिक, धार्मिक राजनीतिक कैरियर में परिवर्तन ला सकता है। समय का सदुपयोग करके मूर्ख व्यक्ति एक विद्वान भी बन सकता है

जिस प्रकार से पाणिनि जैसे मूर्ख व्यक्ति एक संस्कृत के महान विद्वान समय का सदुपयोग और उसकी महत्वता को जानकार बने।

आज जो लोग समय का सदुपयोग करते है, वे बड़े उद्योगपति, आईएएस, आईपीएस, शिक्षक, वैज्ञानिक, डॉक्टर तथा अन्य पदों पर आसीन होते है।

जो लोग समय का सदुपयोग करके एक सही दिशा में निरंतर प्रयास करते हैं तो वे उसमें अवश्य सफल हो जाएगे, क्योंकि कहा जाता है, कि समय का सदुपयोग ही सफलता की कुंजी है।

आप सफलता की ऊंचाइयों तक पहुँचना चाहते हैं, तो समय का सदुपयोग आपके लिए बड़ा ही महत्वपूर्ण कार्य होता है। वर्तमान समय में जो व्यक्ति समय के महत्व सदुपयोग को जानते हैं,

वह आज देश के विभिन्न बड़े-बड़े पदों पर है, और समाज तथा देश में सम्मानीय है। उनके पास सभी सुख सुविधा और ऐस आराम की हर एक वस्तु होती है। इसलिए कहा जा सकता है,

कि समय का अगर सदुपयोग किया जाए तो हम अपने संसार में उन सभी वस्तुओं लाभो को प्राप्त कर सकते हैं, जिनकी हमें अभिलाषा और आवश्यकता है। 

समय के उपेक्षा के परिणाम Samay ke upeksha ke 

समय सभी मनुष्यों के लिए महत्वपूर्ण है, अगर समय के साथ प्रत्येक मनुष्य चलता है, तो वह अपने उद्देश्य में पूर्ण अवश्य होता है। किंतु जो भी मनुष्य समय की उपेक्षा करता है,

समय के महत्व को नहीं जानता समय का दुरुपयोग करता है वह निरंतर अवनति की खाई में गिरता जाता। समय के उपेक्षा के कुछ परिणाम बहुत ही घातक होते हैं, समाज में लोग उसका तिरस्कार करते हैं,

उसे किसी भी प्रकार की सफलता हाथ नहीं लगती है, और समय बीत जाने के पश्चात वह पछताता है। आज के समय में इस समाज में ऐसी कई घटनाएँ होती है,

जिसके बाद कई लोगों को पछताना पड़ता है, कि अगर तुम समय के अनुसार सही काम करते और समय के महत्व को समझते तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता।

जो व्यक्ति समय का सदुपयोग नहीं करते हैं, वह राजा से रंक हो जाते हैं। इसका इतिहास गवाह है, कई घटनाएँ हमारे सामने आज भी प्रस्तुत होती है, लोग समय बर्बाद करने में लगे रहते हैं, मोबाइल चलाते हैं,

वीडियो बनाते हैं, वह समय के महत्व को नहीं समझते और बाद में पछताते हैं। उनकी पढ़ाई का वक्त निकल जाता है, उनकी शिक्षा ठीक से पूर्ण नहीं होती और अच्छी नौकरी नहीं लग पाती है।

जिस कारण वे मजदूरी करते है और दुख में जीवन जीकर पछताते है। इस प्रकार समय की उपेक्षा के ऐसे घातक परिणाम होते हैं, जिनको हमें जिंदगी भर तक झेलना पड़ता है। कबीरदास जी ने कहा है :-

काल करें सो आज कर।
आज करें सो अब।।
पल में प्रलय होयगी।
बहुरि करेगो कब।।

अर्थात जो काम तुम कल पर टाल कर आजका समय वर्वाद कर रहे हो उस  काम को आज कर डालो और जो काम आज करना है, उसे अभी करलो।

क्या पता आगे वह कार्य करने के लिए समय मिला या नहीं। अगर जीवन समाप्त हो जाये तो तुम्हे जो करना है वो कब करोगे।

समय का सदुपयोग पर कविता Samay ka sadupyog par kavita

समय बड़ा बलवान कविता 

समय बड़ा बलवान है भैय्या
समय बड़ा बलवान।
ना ये जाने हिन्दू मुश्लिम
ना सिख ना ईसाई
जो भी इसको करदे बर्बाद
उसकी सामत आई
भैय्या उसकी सामत आई।
जिसने इसके महत्व को समझा
वो हो गया धनवान
समय बड़ा बलवान है भैय्या
समय बड़ा बलवान।
है वो राजा बलवान वही है 
जिसने समय को जाना है।
वेद, पुराण, कई ग्रंथो ने
इसकी महिमा को बखाना है।
समय के साथ जो है चलता
दुनिया कहती उसको महान
जिसने समय का दुरूपयोग किया है 
वो है केवल मृत के समान
समय बड़ा बलवान है भैय्या
समय बड़ा बलवान।

निष्कर्ष Conclusion 

समय सभी के लिए एक मूल्यवान संपदा है, इसलिए समय के महत्व को सभी व्यक्तियों को समझना चाहिए। और समय के साथ ही कार्य करना चाहिए।

क्योंकि जब प्रकृति के हर एक घटक समय के साथ कार्य कर रहे हैं तो मनुष्य उससे अछूता कैसे रह सकता है। इतिहास गवाह है,

जिन व्यक्तियों ने समय का सदुपयोग किया है, वह आज सफलता की ऊंचाइयों को छू रहे हैं, इसलिए समय का महत्व समझ कर सभी लोगों को समय का सदुपयोग ही करना चाहिए।

दोस्तों आपने इस लेख में समय का सदुपयोग पर निबंध (Essay on utilization of time) पड़ा आशा करता हुँ आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:- 

  1. भारतीय किसान पर निबंध
  2. ग्लोबल वॉर्मिंग पर निबंध
  3. आतंकवाद पर निबंध