विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ Vitamin D3 Foods

विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ

विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ Vitamin D3 Foods

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ (Vitamin D3 Foods) में। दोस्तों इस लेख के अंतर्गत आप

विटामिन डी 3 क्या है? विटामिन डी 3 कमी के लक्षण, विटामिन डी 3 लाभ जानेंगे। तो आइये करते है शुरू यह लेख विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ:-

विटामिन डी के स्रोत रोग लक्षण उपचार

विटामिन डी 3 क्या है What is Vitamin D3

विटामिन डी के बारे में तो आप सभी जानते हैं, इसे धूप का विटामिन या सूर्य से प्राप्त विटामिन के नाम से भी जाना जाता है। विटामिन डी का रासायनिक नाम कैल्सीफेरोल (Calciferol) होता है।

किंतु बहुत से लोगों को विटामिन D3 के बारे में जानकारी नहीं होती है, तो दोस्तों यहाँ पर हम आपको बता देना चाहते हैं, कि विटामिन D3 विटामिन डी का ही प्रकार है। जी हाँ विटामिन डी के दो प्रकार होते हैं।

विटामिन D2 और विटामिन D3 (कॉलेकैल्सिफेरॉल) जो वसा में घुलनशील विटामिन होते हैं, तथा वसा में घुलनशील विटामिन होने के कारण यह हमारे वसीय स्तर में स्टोर भी हो जाता है

तथा लंबे समय तक उपयोग में आता है। विटामिन D3 का कैल्शियम के साथ बड़ा ही घनिष्ट संबंध रहता है, क्योंकि यह कैल्शियम के अवशोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अगर मानव के शरीर में विटामिन D3 की कमी है, तो आप कितना भी कैल्शियमयुक्त न्यूट्रिएंट्स कैल्शियम युक्त भोज्य पदार्थ ग्रहण कर लें लेकिन आपके शरीर में कैल्शियम की कमी जरूर रहेगी।

इसीलिए डॉक्टर्स प्रमुख रूप से ब्लड टेस्ट डी 3 तथा सीरम टेस्ट कराने के लिए कहते हैं, ताकि ब्लड में विटामिन डी 3 की मात्रा का पता लगाया जा सके।

इसीलिए यह विटामिन शरीर के लिए बहुत ही आवश्यक विटामिन माना जाता है। इसकी 1 वर्ष से 50 वर्ष के लोगों में मात्र 5 माइक्रोग्राम्स (200 IU)

जबकि 50 वर्ष या उससे अधिक में 10 माइक्रोग्राम (400 IU) और गर्भवती महिलाएँ और स्तनपान कराने वाली महिलाओं में 5 माइक्रोग्राम (200 IU) होती है। 

विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ Vitamin D3 Foods

मनुष्य के शरीर में विटामिन D3 की पूर्ति विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थों से होती है, किंतु खाद पदार्थों से विटामिन D3 मानव शरीर को पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल पाता, इसीलिए विटामिन D3 का

सबसे मुख्य स्रोत सूर्य का प्रकाश अर्थात सनलाइट (Sunlight) होता है। इसलिए मनुष्य अगर धूप में बैठता है, धूप में घूमता है,

तो वह अच्छा विटामिन डी प्राप्त करता है, क्योंकि सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणे त्वचा पर पड़ती है तब हमारा शरीर विटामिन डी का निर्माण कर पाता है।

इसके विपरीत विटामिन डी 3 की कमी पूरी करने के लिए विटामिन D3 से युक्त विभिन्न प्रकार के न्यूट्रिएंट्स भी ले सकते हैं, जबकि विभिन्न प्रकार के खाद्य पदार्थ भी विटामिन D3 से भरपूर होते हैं,

जिनका उपयोग करने से आप विटामिन D3 की कमी को आसानी से पूरा कर सकते हैं। खाद्य पदार्थों के अंतर्गत आप प्रमुख रूप से जानवरों से प्राप्त होने वाले खाद पदार्थों का उपयोग करें

इसमें विटामिन D3 अधिक पाया जाता है, जैसे मछलियों का तेल, यीस्ट, मांस अंडा, दूध और दूध से निर्मित पदार्थ आदि के साथ ही कुछ विशेष प्रकार के फास्ट फूड का सेवन करने से भी विटामिन डी की कमी को पूरा किया जा सकता है। 

विटामिन डी 3 कमी के लक्षण Vitamin D3  deficiency Symptoms 

विटामिन D3 की कमी उन सभी उम्र के व्यक्तियों में अधिक देखी जाती है, जो इस प्रकार के एरिया में रहते हैं, जहाँ पर विटामिन D3 प्राप्त नहीं हो पाता है।

जैसे कि बहुत से लोग बर्फीले एरिया में रहते हैं, कुछ लोग घनी बस्तियों में रहते हैं, जहाँ पर ऊंची ऊंची बिल्डिंग होती हैं, जबकि कुछ लोग पहाड़ी क्षेत्रों में रहते हैं, जहाँ पर धूप आसानी से प्राप्त नहीं हो पाती है

और जो भी खाद पदार्थ प्राप्त होते हैं उनमें विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में नहीं होता है। उन स्थान के लोगों में विटामिन डी की कमी अक्सर देखी जाती है, जिनमें निम्न प्रकार के लक्षण देखे जा सकते हैं:

  1. विटामिन D3 की कमी के कारण शरीर की सभी मांसपेशियों में दर्द होने लगता है, जो लगातार बना रहता है और कभी तो इस प्रकार दर्द होता है, कि वह असहनीय हो जाता है।
  2. शरीर के सभी अस्थियों के जोड़ों में दर्द होने लगता है, व्यक्ति काम करते-करते जल्दी थक जाता है, वह आलस और अनिद्रा का शिकार हो जाता है।
  3. व्यक्ति का किसी भी काम को करने में मन नहीं लगता है, थोड़ा ही मेहनत का काम करते ही जल्दी थक जाता है, इसके साथ ही भूख भी कम हो जाती है तथा घबराहट होने लगती है।
  4. विटामिन D3 की कमी होने के कारण अस्थियाँ भंगुर और विकृत हो जाती हैं, दिमाग ठीक प्रकार से काम नहीं करता और बेचैनी बनी रहती है।
  5. विटामिन डी 3 की कमी के कारण शरीर का इम्यून सिस्टम (Immune System) कमजोर पड़ जाता है। मनुष्य तुरंत रोगाणुओं के संपर्क में आने से सर्दी, जुखाम बुखार आदि रोगों से ग्रसित हो जाता है।

विटामिन डी 3 लाभ Vitamin D3 Benefits

विटामिन D3 मनुष्य के लिए बहुत ही आवश्यक विटामिन होता है, क्योंकि यह मानव शरीर में विभिन्न प्रकार के कार्य करता है जो निम्न प्रकार से हैं:-

  1. विटामिन D3 का सबसे मुख्य कार्य खाद्य पदार्थों के द्वारा तथा अन्य कारणों से शरीर में आए हुए कैल्शियम को एब्जोर्ब करना होता है अर्थात कैल्शियम का अवशोषण आंतो में पहुँचे भोज्य पदार्थ से करता है, क्योंकि कैल्शियम की कमी के कारण मनुष्य में विभिन्न अस्थि रोग तथा अस्थि व्याधियों उत्पन्न हो जाती हैं।
  2. विटामिन D3 का कार्य फॉस्फोरस, मैग्नीशियम आदि को भी अवशोषण करना होता है, जो मानव शरीर में विभिन्न प्रकार के कार्य संपादित करते हैं।
  3. शरीर के मसल्स सिस्टम को डेवलप करना इम्युन सिस्टम को मजबूती प्रदान करना आदि कार्य भी विटामिन D3 के कारण ही संपादित होता है।
  4. विटामिन D3 के कारण मसल्स सिस्टम मजबूत बनता है, हड्डियाँ मजबूत होती हैं, तथा लिवर, किडनी आदि ठीक प्रकार से कार्य करते हैं। 
  5. विटामिन डी 3 मनुष्य को रोग प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करता है, मनुष्य विटामिन D3 के कारण जल्दी नहीं थकता तथा मेहनती काम भी कर सकता है।

दोस्तों इस लेख में आपने विटामिन डी 3 खाद्य पदार्थ (Vitamin D3 Foods) के साथ अन्य महत्वपूर्ण तथ्य को जाना आशा करता हुँ आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

  1. विटामिन किसे कहते है प्रकार तथा कार्य
  2. विटामिन ए किसे कहते है कमी रोग लक्षण फायदे
  3. विटामिन ई क्या है कमी रोग लक्षण उपचार



Post a Comment

और नया पुराने
close