बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान Barah jyotirling ke naam or sthan

बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान Barah jyotirling ke naam or sthan 

हैलो नमस्कार दोस्तों आपका बहुत - बहुत स्वागत है, इस लेख बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान (Barah jyotirling ke naam or sthan) में।

दोस्तों यहाँ पर आप बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान के साथ कैसे पहुँचे उनके स्थान के बारे में जान पायेंगे, तो आइये शुरू करते है, यह लेख बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान:-

भगवान विष्णु के दशावतार की कथा

बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान

ज्योतिर्लिंग क्या है Jyotirling kya hai 

एक समय भगवान श्रीहरि विष्णु और ब्रम्हा के बीच इस बात को लेकर विवाद छिड़ गया कि उनमें महान कौन है उनमें बड़ा कौन है तो वहाँ पर भगवान शिवशंकर ज्योति स्तम्भ को रूप में प्रकट हुए

जिसकी थाह विष्णु और ब्रम्हा ने खोज नहीं पायी भगवान शिव के इसी रूप को ज्योतिर्लिंग कहा जाता है, जो भारत में बारह जगह स्थित है और उनके ऊपरी भाग से हमेशा प्रकाश ज्योति निकालती है।

12 ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान 12 jyotirling ke naam or sthan

यहाँ पर भगवान शिवशंकर के बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और उनके स्थान बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और फोटो बताये है, भगवान शिव के इन बारह ज्योतिर्लिंग के नाम मात्र लेने से भक्त के सारे दुख दूर हो जाते है।

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग गुजरात

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग Somnath jyotirling 

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग भगवान शिव शंकर का सबसे पहला ज्योतिर्लिंग है, जो गुजरात प्रदेश के सौराष्ट्र नामक क्षेत्र में सोमनाथ मंदिर में स्थित है। विदेशी शक्तियों के द्वारा इस सोमनाथ मंदिर पर कई बार हमला किया गया तथा इसे लूटने की कोशिश की गई। सबसे अधिक सोमनाथ मंदिर को क्षति उस समय हुई जब महमूद गजनबी ने सोमनाथ ज्योतिर्लिंग मंदिर को लूटा।

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग कैसे पहुंचे - सोमनाथ तीनों रूटों के द्वारा पहुँच सकते है। सोमनाथ से डेली भारत के प्रमुख शहरों के लिए नियमित बसें, लगजरी बसें उपलब्ध है। सोमनाथ रेलवे स्टेशन से डेली जबलपुर, अहमदाबाद, पोरबंदर तथा अन्य शहरों के लिए सीधी ट्रेंने उपलब्ध है। सोमनाथ का निकटतम एयरपोर्ट दीव एयरपोर्ट है, जहाँ से  सभी अंतरदेशीय उडाने भरी जा सकती है।

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग आंध्र प्रदेश

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग Mallikarjun jyotirling 

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग आंध्र प्रदेश राज्य में कृष्णा जिले में बहने वाली पवित्र नदी कृष्णा के तट पर श्रीशैल नामक पर्वत पर स्थित है, इस क्षेत्र को दक्षिण का कैलाश भी कहा जाता है।

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे -  मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग बस हवाई यात्रा और रेल तीनों के द्वारा आसानी से पहुँच सकते है। विजयबाड़ा, हैदराबाद, तिरुपति आदि प्रमुख स्थानों से नियमित बस सेवाएँ उपलब्ध है, जबकि नजदीकी रेलवे स्टेशन मरकापुर है। यहाँ से श्रीसैलम की दूरी लगभग 60 किलोमीटर है। मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग के सबसे निकट राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट है, जहाँ से सभी प्रमुख शहरों के लिए डेली फ्लाइट है।

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग उज्जैन मध्य प्रदेश

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग Mahakaleshawr Jyotirling 

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत के ह्रदय प्रदेश मध्य प्रदेश  के मालवा क्षेत्र में की पवित्र शिप्रा नदी के तट पर वसी उज्जैन नगरी जिसे पवित्र और कुंभ नगरी के नाम से जाना जाता है, जिस का प्राचीन नाम अवंतिका उज्जैयिनी आदि भी है, में स्थित है।

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग तक बस सेवा के द्वारा आसानी से पहुँचा जा सकता है. यहाँ से नित्यप्रति कई प्रमुख शहरों के लिए सीधी सरकारी और प्राइवेट बस सेवाएँ उपलब्ध है। जबकि उज्जैन रेलमार्ग के द्वारा, दिल्ली कोलकाता मुंबई के साथ अन्य प्रमुख शहरों से जोड़ा गया है। उज्जैन का सबसे निकटतम एयरपोर्ट इंदौर एयरपोर्ट है, जो उज्जैन से लगभग 60 किलोमीटर दूर है। यहाँ से देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है।

ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग मालवा क्षेत्र मध्य प्रदेश

ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग Omkareshawar Jyotirling 

ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग भी मध्य प्रदेश के क्षेत्र मालवा में स्थित ओमकारेश्वर स्थान जो नर्मदा नदी के बीच द्वीप पर है पर स्थित है।

ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग पहुँचने के लिए उज्जैन इंदौर तथा कई प्रमुख शहरों से नियमित बस सेवाएँ उपलब्ध है, जबकि ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग रेलवे स्टेशन भी देश के प्रमुख शहरों से जुडा हुआ है। ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग का सबसे निकटतम एयरपोर्ट इंदौर एयरपोर्ट है, जो उज्जैन से लगभग 60 किलोमीटर दूर है। यहाँ से देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है।

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग उत्तराखंड

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग Kedarnath jyotirling 

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग उत्तराखंड राज्य में केदारनाथ नामक स्थान पर पवित्र नदियों अलकनंदा और मंदाकिनी के तट पर अवस्थित है।

केदारनाथ ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - केदारनाथ से ऋषिकेश, दिल्ली, नागपुर, लखनऊ आदि शहरो के मध्य सीधी बस सेवाएँ नियमित उपलब्ध है, जबकि रेलमार्ग ऋषिकेश के द्वारा कई प्रमुख शहर जुड़े है। केदारनाथ ज्योतिर्लिंग से निकटतम एयरपोर्ट देहरादून में जॉली ग्रांट एयरपोर्ट है। जॉली ग्रांट एयरपोर्ट केदारनाथ के पास पड़ता है। यहाँ से देश के प्रमुख शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है।

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग Bheemashankar jyotirling 

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग भगवान शिव का महत्वपूर्ण ज्योतिर्लिंग है, जो महाराष्ट्र राज्य के प्रसिद्ध पुणे शहर के पास शिराधन नामक गाँव में स्थित है।

भीमाशंकर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - भीमशंकर से निकट रेलवे स्टेशन पुणे है। यहाँ से लखनऊ दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, बैंगलोर, मैसूर, आदि के लिए सीधी ट्रैन उपलब्ध है। पुणे और भीमशंकर की दूरी 125 किलोमीटर है और पुणे से कई शहरों के लिए सीधी बस सेवाएँ उपलब्ध है।

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग वाराणसी उत्तरप्रदेश

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग Kashi vishvanath jyotirling 

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग उत्तर प्रदेश के पवित्र नगरी वाराणसी नामक स्थान पर गंगा नदी के तट पर स्थित है। यह ज्योतिर्लिंग सभी हिंदुओं का सबसे पवित्र ज्योतिर्लिंग माना जाता है।

काशी विश्वनाथ ज्योतिर्लिंग कैसे पहुंचे - वाराणसी सड़क मार्ग द्वारा कई प्रमुख शहरों से जुडा है। यहाँ पर नियमित AC और नॉन AC बस सेवाएँ उपलब्ध है। वाराणसी रेलवे लाइन द्वारा कई जनशन रेलवे स्टेशन से जुडी है, इसलिए वाराणसी के लिए भारत के विभिन्न भागों से सीधी रेल सेवाएँ उपलब्ध है, जबकि निकटतम एयरपोर्ट लाल बहादुर शास्‍त्री एयरपोर्ट है, जहाँ से सभी डोमेस्टिक फ्लाइट उपलब्ध है।

त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र

त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग Trayambakeshawr jyotirling 

त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के नासिक नामक स्थान से कुछ दूरी पर स्थित ब्रम्हगिरी के पास गोदावरी नामक नदी के तट पर स्थित है।

त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - त्र्यंबकेश्वर ज्योतिर्लिंग नासिक से लगभग 30 किलोमीटर दूर है, जहाँ से देश के कई शहरों के लिए सीधी बस सेवाएँ उपलब्ध है। त्र्यंबकेश्वर का नजदीकी रेलवे स्टेशन नासिक है, जो देश के कई रेलवे जंक्शन से सीधा जुडा है, जबकि निकटतम एयरपोट मुंबई एयरपोर्ट है, जहाँ से देशीय और विदेशीय सभी फ्लाइट उपलब्ध है।

बैजनाथ ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र

बैजनाथ ज्योतिर्लिंग Baidhnath jyotirling 

बैजनाथ ज्योतिर्लिंग महाराष्ट्र के बीड़ नामक जिला के परली नामक स्थान पर स्थित है।

बैधनाथ ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - बैधनाथ ज्योतिर्लिंग सडक रेल और वायु तीनों मार्गो द्वारा पहुँच सकते है। यहाँ का निकटतम हवाई उड्डा देवधर एयरपोर्ट है, जबकि नियमित बस सेवाएँ भी उपलब्ध है। यह रेलवे लाइन के द्वारा भी कई प्रमुख शहरों से जुडा है।

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग गुजरात

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग Nageshawar jyotirling 

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग भगवान शिवशंकर का शक्ति स्वरूप वह ज्योतिर्लिंग है, जो गुजरात राज्य के बड़ौदा नामक क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले द्वारका से कुछ दूर ओढ़ा नामक ग्राम में अवस्थित है।

नागेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे- नागेश्वर ज्योतिर्लिंग से सबसे निकट रेलवे स्टेशन द्वारका है, जहाँ से देश के कई प्रमुख शहरों के लिए नित्य सीधी ट्रेंने चलती है। द्वारका सड़क मार्ग द्वारा भी कई प्रमुख शहरों से सम्बंधित है। वहीं वायु मार्ग के लिए निकटतम हवाई अड्डा जामनगर है, यहाँ से सभी देशीय उडाने संभव है।

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग तमिलनाडु

रामेश्वरम ज्योतिर्लिंग Rameshawar jyotirling 

रामेश्वर ज्योतिर्लिंग भारत देश के राज्य तमिलनाडु जिले के रामनाड नामक स्थान पर स्थित है। इस ज्योतिर्लिंग की स्थापना भगवान श्रीराम के द्वारा समुद्र पर सेतु बनाते वक्त की गई थी।

रामेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - रामेश्वरम तक सड़क मार्ग सीधा चेन्नई और अन्य शहरों से जुडा है। तथा नियमित बस सेवाएँ उपलब्ध है, जबकि सबसे निकटतम रेलवे स्टेशन मुदरे है, जहाँ से देश के कई शहरों के लिए सीधी ट्रेने उपलब्ध है, जबकि निकटतम एयरपोर्ट मदुरै है, जहाँ से देश के प्रमुख शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है।

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग ओरंगाबाद महाराष्ट्र

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग Ghrshneshawar jyotirling 

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग की स्थापना महाराष्ट्र के एलोरा औरंगाबाद नामक स्थान के निकट एक ग्राम बेरुल में की गई है। इसे गिरीशेश्वर ज्योतिर्लिंग भी कहा जाता है। 

घृष्णेश्वर ज्योतिर्लिंग कैसे पहुँचे - औरंगाबाद बस स्टैंड से कई प्रमुख शहरों के बीच बस सेवाएँ उपलब्ध है, जबकि निकटतम रेलवे स्टेशन भी औरंगाबाद किन्तु मनमाड रेलवे स्टेशन से देश के कई प्रमुख शहरों तक सीधी रेल सेवाएँ उपलब्ध है, जबकि निकटतम एयरपोर्ट छत्रपति संभाजी महाराज एयरपोर्ट औरंगाबाद है, जहाँ से देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है।

दोस्तों आपने यहाँ पर बारह ज्योतिर्लिंग के नाम और स्थान (Barah jyotirling ke naam or sthan) के बारे में पढ़ा। आशा करता हुँ, आपको यह लेख अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

  1. पंच कन्याओ के नाम और परिचय
  2. सप्तऋषियों के नाम और परिचय
  3. नवरात्री क्यों मनाते है कहानी
  4. देवी सुमित्रा का जीवन परिचय

Post a Comment

और नया पुराने
close